स्वास्थ्य

घर बैठे ही करें वायरल फीवर का इलाज, इन 10 लक्षणों का पता लगते ही हो जाएं सावधान

वायरल फीवर से घबराए नहीं इस तरह करें उसका सामना, घरेलू नुस्खे से भी हो सकता है ठीक

बुखार आना एक सामान्य रोग में से एक है. वहीं बारिश या मानसून के मौसम के दौरान भी बुखार आना एक सामान्य बात ही है. हालांकि इसे नजर अंदाज करना कतई उचित नहीं है. समय पर इसका इलाज आवश्यक है नहीं तो यह छोटा सा रोग विकराल रूप भी धारण कर सकता है. बता दें कि मानसून के दौरान इसका खतरा अधिक रहता है.

viral fever

बरसात के मौसम के दौरान अक्सर देखने को मिलता है कि लोगों में वायरल फीवर का खतरा अधिक बना रहता है और अधिकतर लोग वायरल फीवर का शिकार हो जाते हैं. हालांकि यह ज़्यादा गंभीर नहीं होता है और न ही इससे घबराने या परेशान होने की आवश्यकता है. बस इस दौरान सावधानी जरूर बरतें.

वायरल फीवर के लक्षण…

viral fever

किसी भी बीमारी या रोग पर विस्तार से चर्चा करने से पहले उसके लक्षणों के बारे में जरुर जान लेना चाहिए. आइए आपको बता दें कि इस बारे में डॉक्टर्स का क्या कहना है. नीचे डॉक्टर्स द्वारा वायरल फीवर के कुछ प्रमुख लक्षण बताए गए हैं.

वायरल फीवर के लक्षण (Viral Fever Symptoms)…

viral fever

– गले में दर्द
– सिर दर्द
– जोड़ों में दर्द
– सिर का तेज गर्म होना
– अचानक से तेज बुखार जो समय-समय पर आता जाता रहे
– खांसी
– आंखों का लाल होना
– उल्टी या मतली
– बेहद थकान
– दस्त

यदि आपको ऊपर बताए गए 10 लक्षणों में से कोई भी लक्षण नज़र आए तो इसे नज़र अंदाजा किए बिना तुरंत इसका इलाज करवाए. वहीं जो रोगी है उसे एक अलग कमरा दे देना चाहिए. प्रयास रहें कि वह घर के सदस्यों से एक आवश्यक दूरी बनाकर रखें. ऐसे में वायरल फीवर किसी दूसरे सदस्य तक नहीं जा पाएगा. तुरंत इलाज करवाकर खुद को जल्द से जल्द स्वस्थ करें.

viral fever

आपको हमने वायरल फीवर के प्रमुख 10 लक्षणों से तो अवगत करा ही दिया है जिससे कि आप इस बीमारी से सचेत हो जाए और सही समय पर सही इलाज लेकर जल्द से जल्द स्वस्थ हो जाए हालांकि इसके साथ ही हम आपके लिए कुछ देसी नुस्खें भी लाए है जिससे कि आपको स्वस्थ होने में और तेजी से मदद मिल सकती है.

वायरल फीवर में कारगर देसी नुस्खे…

– तुलसी का काढ़ा, तुलसी की चाय और वायरल फीवर में तुलसी ड्राप भी गुनगुने पानी संग लेने में फायदेमंद है.
– बीमार होने पर फल का असें जरूर करें. वायरल फीवर के दौरान मौसमी फल खाए.
– तरल पदार्थों का अधिक सेवन करें.


– गिलोय का सेवन करें.
– चाय पीए तो अदरक की पीए. जिससे कि खांसी-जुकाम में भी फायदा पहुंचेगा.

Back to top button
?>