राजनीतिसमाचार

Kabul Airport Attack Update: अब एक्शन में राष्ट्रपति बाइडेन, सेना को दिया यह बड़ा आदेश

काबुल एयरपोर्ट अटैक के बाद जो बाइडेन ने कहा, 'अब हम शिकार करेंगे, चुकानी होगी मौतों की कीमत'...

बीते दिन कल काबुल एयरपोर्ट (Hamid Karzai International Airport Kabul) पर हुए दो आत्मघाती धमाकों के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन गुस्से में हैं। उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा है कि अमेरिका हमलावरों का पता लगाएगा और उन्हें बड़ी कीमत चुकाना पड़ेगी। बता दें, गुरुवार रात हुए सीरियल ब्लास्ट में अब तक इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक करीब 100 लोगों के मारे जाने की सूचना है। वहीं 150 से अधिक लोग घायल हुए हैं।

मृतक संख्या बढ़ सकती है। इस्लामिक स्टेट (IS) ने हमलों की जिम्मेदारी ली है। काबुल एयरपोर्ट पर हमले की पुष्टि के बाद अब जो बाइडेन ने मीडिया को संबोधित किया तो उनका गला भर आया और उन्होंने पेंटागन को पलटवार की योजना बनाने को कहा है।


बता दें, हमले में करीब एक दर्जन अमेरिकी सैनिकों के मारे जाने की भी सूचना है। कई घायल हुए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने इसे एक दशक में अमेरिकी सेना के लिए सबसे बुरा दिन बताया। इस्लामिक स्टेट (IS) ने आत्मघाती बमबारी की जिम्मेदारी ली है। बाइडेन ने भी ISIS को हमलों के लिए दोषी ठहराया। व्हाइट हाउस में टिप्पणी में करते हुए उन्होंने कहा कि, ” हम माफ नहीं करेंगे, हम नहीं भूलेंगे। हम आपको ढूढेंगें और आपको कीमत चुकाना होगी।”


इतना ही नहीं अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि काबुल एयरपोर्ट पर अमेरिकी सैनिकों का ऑपरेशन जारी रहेगा। हालांकि उन्होंने 31 अगस्त की डेड लाइन पर कुछ नहीं कहा। कम से कम 1,000 अमेरिकी और कई अन्य अफगान अभी भी काबुल से बाहर निकलने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। अमेरिका ने काबुल एयरपोर्ट से अपने लोगों को निकालने का काम तेज कर दिया है। 25 घंटे में 7500 नागरिक रेस्क्यु किए गए हैं। वैसे भी उनके पास सिर्फ 31 अगस्त तक का ही समय है।


वहीं बता दें कि रूस ने कहा है कि काबुल एयरपोर्ट पर अगले कुछ घंटे अहम हो सकते हैं। आशंका जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में कुछ और कार हमले हो सकते हैं। रूस ने अपने दूतावास को खाली करवा लिया है। वहीं भारत के लिहाज से अच्छी बात यह है कि अधिकांश लोगों को सुरक्षित भारत अबतक लाया जा चुका है। चुनिंदा लोग बचे हैं, उनसे सरकार का सम्पर्क नहीं हो रहा है। हो सकता है कि ये लोग भारत नहीं आना चाहते हो। कुछ सिख ऐसे भी हैं जो भारत के बजाए अमेरिका जाना पसंद कर रहे हैं।

Kabul Airport Blast

इन सबसे इतर आस्ट्रेलिया ने अफगानिस्तान में जारी अपना रेस्क्यु ऑपरेशन रोक दिया है। प्रधानमंत्री स्काट मारिसन ने यह जानकारी दी। साथ ही आस्ट्रेलिया की ओर से अफगानिस्तान में अपने नागरिकों को काबुल एयरपोर्ट से दूरी बनाने की सलाह दी गई है।

Back to top button
?>