ब्रेकिंग न्यूज़

अफगान से भागी पॉप स्टार ने सुनाई अपनी दुख भरी कहानी, कहा-घर में घुस आए थे तालिबानी

अफगानिस्तान की पॉपुलर पॉप स्टार अर्याना सईद ने अपने देश को छोड़ दिया है। देश छोड़ने के बाद इन्होंने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को एक इंटरव्यू दिया है और जिसमें सईद ने पाकिस्तान को अफगान की हालात के लिए जिम्मेदार बताया है। साथ ही इस इंटरव्यू में अर्याना सईद ने ये भी बताया कि कैसे वो अपने देश से बाहर निकलने में कामयाब हुई थी।

अर्याना के अनुसार 14 अगस्त को उनके पास एक फोन आया था। जिसमें चेतावनी दी गई थी कि तालिबान काबुल पर कब्जा कर रहा। फोन आने के बाद आर्याना ने विमान की टिकट बुक करवा ली और 15 अगस्त को अपने मंगेतर हसीब सैयद के साथ काबुल एयरपोर्ट चले गई। लेकिन इसी दिन तालिबानी काबुल में घुस गए। जिसके कारण कॉमर्शियल फ्लाइट ने उड़ान नहीं भरी और एयरपोर्ट पर गोलियां चलने लगी।। ऐसे में अर्याना सईद अपने मंगेतर के साथ एयरपोर्ट से निकल गई। क्योंकि उन्हें डर था कि तालिबानी फाइटर कोई पहचान न लें। इसलिए अर्याना सईद काबुल में रिश्तेदारों के घर चले गई। अगले दिन अर्याना सईद को पता चला कि तालिबानी फोर्स उनके पड़ोस में घर-घर तलाशी ले रही है। जिसके बाद वो फिर से एयरपोर्ट चली गईं। इस दौरान अर्याना सईद ने अपना चेहरा पूरी तरह ढक लिया। ताकि उन्हें तालिबानी आतंकी पहचान न लें।

पॉप स्टार ने बताया कि वो अपने मंगेतर हसीब के छोटे चचेरे भाई के साथ एयरपोर्ट के लिए रवाना हुई थी। ताकि लगे कि ये एक फैमिली आउटिंग है। एयरपोर्ट जाने के दौरान पांच चेकप्वॉइंट पर इनकी गाड़ी को रोका भी गया। लेकिन चेहरा पूरी तरह ढ़का होने से कोई उन्हें पहचान नहीं पाया।

वहीं एयरपोर्ट पर हसीब को एक अफगानी ने पहचाना। उसने एक अमेरिकी अधिकारी से कहा, “ये अफगानिस्तान की एक बहुत फेमस पॉप स्टार के मंगेतर हैं और आप इन्हें अंदर जाने दें। नहीं तो तालिबानी इन्हें मार देंगे। जिसके बाद इन्हें अमेरिकी सेना ने अंदर जाने दिया। यहां पर एक अमेरिकी सैन्य विमान था। जिसमें ये बैठकर पहले दोहा गए। फिर यहां से कतर के लिए रवाना हुए। वहीं 19 अगस्त को अर्याना अपने मंगेतर के साथ अमेरिका पहुंच गई। अर्याना ने कहा मैं लकी थी कि अफगानिस्तान से बाहर निकल आई, लेकिन बाकी बचे हुए लोगों का क्या जो वहां है?

अफगानिस्तान छोड़ने के बाद अर्याना ने कहा कि अब मैं अपने देश अफगानिस्तान के अंदर नहीं हूं। मैं बाहर हूं। लेकिन मैं अपने देश के आवाजहीनों की आवाज बनने की पूरी कोशिश करूंगी। मैं वहां की हर बात और लोगों की परेशानियों को दुनिया के सामने लाने की कोशिश करूंगी। अभी मेरे देश को मदद की जरूरत है।

अशरफ गनी पर जताई नाराजगी

अर्याना ने अपने देश के राष्ट्रपति के खिलाफ नाराजगी भी जाहिर की है और कहा है कि “मैं वास्तव में राष्ट्रपति अशरफ गनी से निराश हूं। जिस तरह से उन्होंने पाकिस्तानियों के एक समूह के हाथों अफगानिस्तान छोड़ दिया। उन्होंने हमारे लोगों, हमारे देश, हमारे सशस्त्र बलों, सेना को नीचा दिखाया। हम बिना किसी नेता के कैसे लड़ सकते थे? वहीं भारत की तारीफ करते हुए इन्होंने कहा कि भारत हमेशा हमारे लिए हमेशा एक सच्चा दोस्त रहा है। हमारे लोगों के लिए बहुत मददगार और दयालु रहा है।

अर्याना ने आगे कहा कि मैं अपने जीवन में जितने भी अफ़गानों से मिली हूँ, जो पहले भारत में शरणार्थी थे, उन्होंने भारतीय लोगों के बारे में बहुत अच्छी बात की हैं। हम भारत के लोगों के आभारी हैं।

Back to top button