मुख्य समाचार

वीडियो : पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट से हवा में उड़े शरीर, 25 की मौत, 20 लापता!

मध्य प्रदेश : बालाघाट में बुधवार की दोपहर करीब 3 बजे एक बड़ा धमाका हुआ जिसमें 25 लोगों के मरने और सात लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की खबर है, यह हादसा बालाघाट से करीब 8 किमी की दूरी पर खैरी गांव में एक पटाखा फैक्ट्री में हुआ, खबर के मुताबिक फैक्ट्री में 47 मजदूर मौजूद थे. प्रशासन ने बुधवार की शाम तक 21 लोगों की मौत की पुष्टि की थी, आपको बता दें कि हादसे में 20 लोग लापता हैं. वहीँ प्रशासन के मुताबिक अभी मरने वालों की संख्या और भी बढ़ सकती है.

यह हादसा इतना भयानक था कि इसकी आवाज करीब 2 किमी दूर तक सुनाई दी और धमाके की वजह से 500 मीटर दूर तक शरीर गिरे हुए मिले. कई शरीर क्षत विक्षत हो गए जिसकी वजह से उनकी पहचान करने में दिक्कत हो रही है, बताया जा रहा है कि धमाके के बाद शव हवा में उड़े और फिर जमीन पर गिर गए. धमाका इतना जोरदार था कि गांव के लोगों में धमाके से आई बदहवासी साफ जाहिर होती है.

आपको बता दें कि यह फैक्ट्री लाइसेंस लेकर संचालित की जा रही थी मगर इसमें सुरक्षा के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किये गए थे. यह फैक्ट्री झोपड़ीनुमा परिसर में संचालित की जा रही थी. इसे वैनगंगा नदी के किनारे संचालित किया जा रहा था, प्रशासन के मुताबिक फैक्ट्री को 100 क्विंटल बारूद से पटाखा बनाने की इजाजत थी मगर यहां अवैध रूप से इससे अधिक मात्रा में बारूद का भण्डारण किया गया था. प्रशासन ने घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंच कर राहत कार्य शुरू किया.

स्थानीय लोगों ने धमाके के बारे में जानकारी दी और बताया कि फैक्ट्री में कम करने वाले 47 मजदूरों में ज्यादातर महिलाएं थीं, बुधवार को देर शाम तक प्रशासन ने 21 शव बरामद किये थे और बचाव कार्य जारी था. ग्रामीणों के मुताबिक स्थिति बहुत ज्यादा भयावह थी, दमकल की गाड़ियों और पुलिस के साथ मिलकर ग्रामीणों ने आग को काबू किया और इसके बाद शवों को निकाला गया.

घटना के बाद से फैक्ट्री मालिक रज्जू वारिस फरार है, पुलिस उसकी तलाशी और खोजबीन में जुटी है, प्रशासन ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को 2-2 लाख रूपये सहायता राशी देने की घोषणा की है, गंभीर रूप से घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद नागपुर रेफर किया गया है.

देखें वीडियो- 

Related Articles

Close