लखनऊ – सोशल मीडिया पर समाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में उत्तर प्रदेश पुलिस अखिलेश यादव के साथ धक्का- मुक्की और बत्तमीजी करती नजर आ रही है। इस वीडियो को फेसबुक और यूट्यूब पर लोगों द्वारा खूब शेयर किया जा रहा है। दरअसल, इस वीडियो का इस्तेमाल कुछ लोग योगी आदित्यनाथ की सरकार के खिलाफ जहर उगलने के लिए कर रहे हैं। लोग इस वीडियो को शेयर करते हुए लिख रहे हैं कि यूपी पुलिस योगी की सरकार में पूर्व सीएम अखिलेश यादव के साथ कैसे बदसलूकी कर रही है। इस वीडियो को जो भी देख रहा है प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आलोचना कर रहा है। Police misbehave with akhilesh yadav.

पुराने वीडियो के जरिए योगी सरकार पर निशाना –

कुछ यूजर्स ने ये वीडियो देखने के बाद लिखा है कि योगी जी को कम से कम सीएम के पद की गरिमा का ख्याल करना चाहिए था और पूर्व मुख्यमंत्री के साथ ऐसा सलूक बिल्कुल उचित नहीं है। वहीं कुछ यूजर्स ने इस बदसलूकी के लिए यूपी पुलिस पर बरस रहे हैं। कुछ यूजर्स ने तो यहां तक लिखा है कि कभी अखिलेश यादव के एक इशारे पर नाचने वाली यूपी पुलिस आज उनके साथ ही ऐसा घटिया व्यवहार कर रही है।

समाजवादी पार्टी के सपोर्टर इस वीडियो के वायरल होने के बाद अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं और यूपी की आदित्यानाथ सरकार को बुरा-भला कह रहे हैं। पार्टी के कुछ सपोटर्स ने लिखा है कि सपा एक बार फिर से संघर्ष करेगी। लेकिन, यहां पर कुछ ऐसा है जिसपर लोगों का ध्यान नहीं जा रहा और वे इस वीडियो की सच्चाई जाने बिना ही इसपर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

ये है इस वायरल वीडियो की असलियत –

इस वायरल वीडियो को लेकर सोशल मीडिया पर जो दावे किये जा रहे हैं वो हकीकत से बिल्कुल अलग हैं। दरअसल, यह वीडियो उस वक्त का है जब उत्तर प्रदेश में बसपा की सरकार थी और मायावती यूपी की सीएम थीं यानी की आज से 6 साल पहले मई 2011 में। अखिलेश के साथ यह बदसलूकी उस वक्त हुई थी जब सपा लॉ एंड ऑर्डर जैसे मुद्दों को लेकर प्रदेश भर में प्रदर्शन कर रही थी। तब अखिलेश यादव इस प्रदर्शन में हिस्सा लेने संसद के सदस्य के तौर पर दिल्ली से लखनऊ आए थे।

एसपी बीपी अशोक ने अखिलेश यादव को लखनऊ पहुंचते ही गिरफ्तार कर लिया। इस वाकये के एक साल बाद ही प्रदेश में सपा की सरकार बनी और अखिलेश यादव के सीएम बनते ही एसपी बीपी अशोक और लखनऊ के तत्कालीन एसएसपी डीके ठाकुर को इसका अंजाम भुगतना पड़ा था। अखिलेश ने इन दोनों अधिकारियों का ट्रांसफर चुनार कर दिया था।

यह वाकया और यह वीडियो 6 साल बाद एक बार फिर से सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है और लोग बिना सोचे समझे योगी आदित्यनाथ और यूपी पुलिस को भला बुरा कह रहे हैं।

देखें वीडियो –

***

Leave a Reply

Your email address will not be published.