समाचार

बैंकों को डूबे पैसे मिले वापस। मेहुल चौकसी, नीरव मोदी, माल्या की जब्त संपत्ति बेच कर हुई रिकवरी

बैंको और सरकार को वापस मिला घोटालों में डूबा पैसा...

भगोड़े विजय माल्या (Vijay Mallya), नीरव मोदी (Nirav Modi) और मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) से जुड़ी एक बड़ी ख़बर है। जी हां बता दें कि इन तीनों कारोबारियों से जब्त किए गए 9,371 करोड़ रुपये की संपत्ति ईडी ने बैंकों को लौटा दिए हैं। अब तक इन तीनों भगोड़े से 18,170 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की जा चुकी है। गौरतलब हो कि यह कार्रवाई प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने की है।

जानकारी के मुताबिक ये तीनों भगोड़ों की संपत्ति से उनकी धोखाधड़ी के कारण हुए नुकसान की भरपाई करने का फैसला किया गया है। ऐसे में अब यह कहा जा रहा है कि ईडी ने बैंकों को हुए नुकसान के करीब 80 फीसदी के बराबर की संपत्ति जब्त कर ली है। सीबीआई की एफआईआर के अनुसार ईडी ने तुरंत कार्रवाई की और देश-विदेश में लेनदेन तथा विदेश में संपत्ति का पता लगाया। जिसके बाद यह कार्यवाही की गई है।

Fraud Business men Nirav, Malaya and Mehul

ऐसे में यह कार्यवाही कहीं न कही उस विपक्ष को करारा जवाब है, जो मोदी सरकार पर आए दिन आरोप लगाती थी कि सरकार भगोड़ों के पक्ष में खड़ी है। यह सरकार और उसके अंतर्गत काम करने वाली एजेंसियों की ही देन है कि ईडी ने इन तीनों भगोड़े कारोबारियों से इतनी बड़ी राशि ज़ब्त करके बैंक और भारत सरकार को लौटा दिए हैं।

Fraud Business men Nirav, Malaya and Mehul

ईडी (ED) ने बुधवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। वित्तीय जांच एजेंसी ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय ने PMLA के तहत विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के मामले में न केवल 18,170.02 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है, बल्कि ईडी ने यह भी बताया कि जब्त की गई 18,170.02 करोड़ रुपये की संपत्ति बैंकों को हुए कुल नुकसान का 80.45 फीसदी है। साथ ही एजेंसी ने बताया कि 9,371.17 करोड़ रुपये की कुर्की/जब्त संपत्ति का एक हिस्सा भी PSB और केंद्र सरकार को ट्रांसफर किया है।


रिपोर्ट के मुताबिक, विजय माल्या,  नीरव मोदी और मेहुल चोकसी ने मिलकर भारतीय सरकारी बैंकों को करीब 22,585 करोड़ का चूना लगाया था। जिसमें से इन तीनों की 18,170 करोड़ की संपत्ति ईडी द्वारा सीज की जा  चुकी है। यह कुल नुकसान का 80.45 फीसदी है।

Fraud Business men Nirav, Malaya and Mehul

ईडी ने कहा कि विजय माल्या और पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामलों में बैंकों की 40 फीसदी राशि पीएमएलए के तहत जब्त किए गए शेयरों की बिक्री के जरिए वसूली गई।

जमानत पर जेल से बाहर है विजय माल्या…

Fraud Business men Nirav, Malaya and Mehul

किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक विजय माल्या ब्रिटेन से भारत प्रत्यर्पण के लिए अदालती मामलों का सामना कर रहें हैं। वह फिलहाल जमानत पर जेल से बाहर है। 2019 में ब्रिटेन के तत्कालीन गृह सचिव ने उनके प्रत्यर्पण को मंजूरी दी थी। भारतीय जांच एजेंसी ईडी (ED) और सीबीआई (CBI) द्वारा मामले की जांच के दौरान माल्या 2 मार्च, 2016 को भारत छोड़कर फरार हो गया था। जिसके बाद बैंकों ने आरोपी के खिलाफ डेब्ट रिकवरी ट्रिब्यूनल्स का रुख किया। जनवरी 2019 में माल्या को भगोड़ा और आर्थिक अपराधी घोषित किया गया था।

जेल में बंद है मेहुल चोकसी और नीरव मोदी…

Fraud Business men Nirav, Malaya and Mehul

पंजाब नेशनल बैंक से धोखाधड़ी के जरिए 13,500 करोड़ रुपए लोन लेने के आरोपी मेहुल चोकसी और नीरव मोदी जनवरी 2018 में भारत से फरार हैं। चोकसी फिलहाल डोमिनिका की जेल में बंद है, जबकि नीरव मोदी ब्रिटेन की जेल में बंद है। कुल-मिलाकर देखें तो यह भारत सरकार के साथ ही साथ देश के लिए अच्छी और राहत देने वाली ख़बर है कि इन तीनों भगोड़े कारोबारियों से बड़ी मात्रा में पैसे की रिकवरी की जा रही है। वहीं उनके प्रत्यार्पण की बात चल रही है। इन तीनों भगोड़े कारोबारियों से हुई पैसों की रिकवरी पर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन ने ट्वीट करते हुए कहा कि, “भगोड़े और आर्थिक अपराधियों के मामलों पर सक्रिय रूप से काम हो रहा है। इनकी संपत्तियां जब्त की गई हैं और बकाये की रिकवरी की गई है। सरकारी बैंकों को पहले ही इनके शेयरों की बिक्री से 1,357 करोड़ रुपये मिल चुके हैं। अब तक बैंकों को इस तरह की जब्त की गई संपत्तियों से कुल 9,041.5 करोड़ रुपये मिल चुके हैं।”

Back to top button