अध्यात्म

गरुड़ पुराण के अनुसार इन 4 कामों को जीवन में कभी न करें अन्यथा जीवन भर आपको पछताना पड़ेगा

दुनिया का सबसे पुराना और बड़ा धर्म सनातन धर्म को कहा जाता है. इस धर्म में कई मान्यताएं और कई तरह के ग्रन्थ और पुराण है. इन्ही में से सबसे मशहूर है गरुड़ पुराण. गरुड़ पुराण को 18 महापुराण में से एक माना जाता है. गरुड़ पुराण में लोक और परलोक के बारे में कई तरह की अहम् जानकारी दी गई है. यहाँ तक की इस पुराण में मृत्यु के बाद की स्थितियों का भी वर्णन मिलता है. इन सब बातों के अलावा भी इस महापुराण में ऐसी तमाम बातें बताई गई हैं जो सर्वसाधारण को धर्म के रास्ते पर चलने की प्रेरणा देती हैं.

यह बाते हमारे जीवन को उचित तरह से जीने के बारे में बताती है. यदि व्यक्ति इन बातों पर चलना सीख़ ले तो उसके जीवन की तमाम तरह की मुश्किलें ख़त्म हो जाती है. यहाँ जाने ऐसे ही 4 कामों के बारे में जिन्हें कभी नहीं करना चाहिए वर्ना घर से खुशहाली चली जाती है.

सबसे पहली और महत्वपूर्ण बात यह कि महिला और पुरुष दोनों को ही शादी के बाद एक साथ ही रहना चाहिए. ​उन दोनों को लंबे समय तक विरह से बचना चाहिए. नहीं तो दोनों को ही जीवन में कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है. इसके अलावा स्त्री की सुरक्षा दृष्टि और सम्मान के लिए भी ये अच्छा है कि वो अपने पति से ज्यादा दिनों तक दूर नहीं रहे. दोनों का साथ रहना न सिर्फ उनके रिश्ते को मजबूत बनाता है, बल्कि उनके आपसी सामंजस्य को भी अच्छा करता है.

इसके अलावा आपको दोस्ती हमेशा चरित्रवान लोगों से ही करनी चाहिए, क्योंकि संगत का असर व्यक्ति पर बहुत गहरा प्रभाव डालता है. बुरे व्यक्ति की संगति न सिर्फ आपका पतन करती है, बल्कि आपके साथ जुड़े लोगोंं के लिए भी कई तरह से ये परेशानियां खड़ी कर देती है. इस तरह के लोग यदि आपके संपर्क में हों, तो उन्हें अभी से ही खुद से दूर कर दें अन्यथा आपके परिवार को भी कई तरह की मुश्किलें झेलनी पड़ सकती हैं. एक पुरानी कहावत है जैसी संगत वैसी रंगत.

अपने शब्दों का सोच-समझ के इस्तेमाल करें किसी से भी कभी भी कुछ गलत शब्द नहीं बोले. साथ ही आप किसी का अपमान भी नहीं करें. क्योंकि आप जो कुछ भी करते है वह भविष्य में आपके पास जरूर लोट के आता है. इसके साथ ही कठोर वचन बोलने वाले लोगों के घर में भी कभी शांति का वास नहीं रहता है. ऐसे घर में कभी लक्ष्मी का वास भी नहीं होता और परिवार में धन संपत्ति का नाश होता है. इसलिए जीवन भर बोलने से पहले अपने शब्दों का चुनाव अवश्य कर लें.

अगर आप किसी के घर में जाएं तो लंबे समय तक न ठहरें. पराए घर में लंबे समय तक ठहरने से आपके मान सम्मान में कमी आती है. इसके साथ ही आपको कई तरह की असुविधा भी उठानी पड़ती है. वहीं महिलाओं को मायके जाते समय भी इस बात का ध्यान रखना चाहिए. किसी भी तरह की असुविधाओं से बचने के लिए स्वयं के घर पर रहना सबसे बेहतर है.

Back to top button
?>