विशेष

क्रिकेट के साथ ही पढ़ाई में भी अव्वल थे भारत के ये क्रिकेटर्स, इनके पास है बड़ी-बड़ी डिग्रियां

हमने बचपन से ही एक कहावत सुनी है जो काफी आम है. हमारे बड़े-बुजुर्ग हमसे कहते है कि ‘पढ़ोगे लिखोगे तो बनोगे नवाब, खेलोगे कूदोगे तो होगे खराब’. मगर ये कहावत उन लोगों पर झूट साबित होती है जिन्होंने दुनिया भर में अपना नाम खेलकूद से बनाया है. लेकिन हमारे कुछ क्रिकेट खिलाड़ी ऐसे भी है जो खेल के साथ-साथ पढ़ाई में भी बहुत आगे थे. आज हम आपको भारत के उन खिलाडियों के बारे में बताने जा रहे जिनके पास कादि बड़ी-बड़ी डिग्रियां है.

अनिल कुंबले

anil kumble

अनिल कुंबले भारत की तरफ से सबसे सफल स्पिन गेंदबाज़ रहे है. कुंबले ने अपने क्रिकेट करियर के अंत में भारतीय टीम की कप्तानी भी की थी. क्रिकेट मैदान के अलावा कुंबले पढ़ाई में भी अव्वल थे. अनिल ने अपनी प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज एजुकेशन बासावानागुड़ी से की थी. इसके बाद जम्बो ने आरवीसीई कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की थी. इस तरह से अनिल कुंबले एक इंजीनियर बन गए थे.

राहुल द्रविड़

rahul dravid

भारतीय टीम के लिए भरोसे का दूसरा नाम थे राहुल द्रविड़. राहुल द्रविड़ को टीम इंडिया की वॉल कहा जाता था. उन्होने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत 1996 में की और वह भारतीय टीम की ओर से 16 साल तक खेलते रहे. उन्होंने कई सालों तक भारतीय टीम की कप्तानी भी की थी. बैंगलोर के एक जाने माने सेंट जोसेफ बॉयज हाईस्कूल से द्रविड़ ने अपनी पढ़ाई पूरी की थी. इसके बाद द्रविड़ ने सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ कॉमर्श से कॉमर्श में डिग्री ली थी.

जहीर खान

zaheer khan

जहीर खान अपने स्कूल के समय में काफी होनहार छात्र थे. जहीर ने 12 काफी अच्छे नंबरों से पास की थी. उन्होंने इंजीनियरिंग के लिए दाखिला लिया था. इसी बीच क्रिकेट के प्यार ने उन्हें अपनी और आकर्षित कर लिया. इसके बाद जहीर खान इंजीनियरिंग छोड़कर क्रिकेट में किस्मत आजमाने चल पड़े. जहीर खान भारत के सफलतम गेंदबाज़ में गिने जाते है.

अविष्कार साल्वी

aavishkaar saalvi

अविष्कार साल्वी ने भारत के लिए 4 वनडे मैच खेले. साथ ही वो आईपीएल में 7 टी20 मैच भी खेले थे. उन्होंने ISRO मे जाने वाली डिग्री ले रखी थी. अविष्कार साल्वी एस्ट्रोफिजिक्स में पीएचडी कर चुके हैं.

वीवीएस लक्ष्मण

vvs laxman

भारतीय टीम के लिए वैरी वैरी स्पेशल पारी खेलने वाले वीवीएस लक्ष्मण ने हमेशा ही टीम इंडिया को मुश्किल कंडीशन में मैच जिताया है. लक्ष्मण ने टेस्ट क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्ष 1996 में अपना डेब्यू किया था. लक्ष्मण ने अपना अंतिम मैच भी इसी टीम के खिलाफ खेला था. लक्ष्मण ने डॉक्टर बनाने के लिए एक मेडिकल कॉलेज में एडमिशन ले लिया था. मगर क्रिकेट में आने के लिए उन्होंने पढ़ाई को छोड़ दिया था. लक्ष्मण भारत के महान क्रिकेटर के रूप में जाने जाते है.

रविचंद्रन अश्विन

ravichandran ashwin

रविचंद्रन अश्विन आज के समय में भारत की स्पिन गेंदबाज़ी की रीड की हड्डी है. रविचंद्रन अश्विन ने साल 2011 में अपने एकदिवसीय करियर में डेब्यू किया था. अश्विन ने क्रिकेटर बनने से पहले काफी अच्छी पढ़ाई की है. उन्होंने इंन्फॉरमेशन टेक्नॉलजी में बीटेक किया हुआ है. बाद में वह क्रिकेट में आ गए.

जवागल श्रीनाथ

jagwal shrinath

जवागल श्रीनाथ भारत के लिए तेज़ गेंदबाज़ी किया करते थे. जवागल श्रीनाथ अब आईसीसी के मैच रैफरी बन चुके है. श्रीनाथ वनडे क्रिकेट में भारत की और से 300 से अधिक विकेट लेने वाले एक मात्र तेज गेंदबाज हैं. श्रीनाथ ने 1991 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू किया था. उनकी पढ़ाई के बारे में बात करे तो वह इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हैं. उनके पास इंस्ट्रुमेंटल इंजीनियरिंग में बैचलर की डिग्री है.

Show More
Back to top button