घर की इन दिशाओं में भूलकर भी ना करें ये काम वरना हो सकते हैं बड़े-बड़े आर्थिक नुकसान!

वास्तु शास्त्र बहुत ही प्राचीन विद्या है। इसका प्रयोग सदियों से अपने आस-पास के माहौल को सही करने और घर की नकारात्मक उर्जा को दूर रखने के लिए किया जाता रहा है। आज के समय में भी कई लोग इस विद्या का इस्तेमाल कर रहे हैं। घर की हर दिशा का अपना एक वास्तु महत्व होता है। इसकी वजह से घर के सदस्यों की आर्थिक स्थिति, स्वास्थ्य और सोच पर असर पड़ता है।

छोटी-छोटी गलतियों से पनपता है वास्तु दोष:

कई घरों में सदस्यों की छोटी-छोटी गलतियों की वजह से वास्तु दोष पनपने लगते हैं। इसके बारे में उन्हें जानकारी ही नहीं होती है। घर के लोगों में मनमुटाव शुरू हो जाता है और आर्थिक नुकसान होने लगते हैं। लेकिन जब दोष बड़ा बन जाता है और कोई बड़ा नुकसान होता है, तब अचानक से लोगों का ध्यान इसकी तरफ जाता है।

उत्तर-पूर्व दिशा में ना रखें कोई भारी वस्तु:

घर की उत्तर-पूर्व दिशा को धन की देवी और देवता का स्थान माना गया है। इसी दिशा से वे घर में प्रवेश करते हैं और घर में धन की वर्षा करके घर वालों को धनवान बनाते हैं। इसलिए ऐसा कहा जाता है कि घर की इस दिशा को हमेशा साफ-सुथरा रखना चाहिए। इस दिशा में कोई भारी वस्तु भी नहीं रखनी चाहिए, जिससे धन के देवता को घर में प्रवेश करने में रूकावट हो।

इस बात का जरूर रखें ध्यान:

*- घर की उत्तर-पक्षिम दिशा को भी धन का महत्वपूर्ण स्त्रोत माना जाता है। इसलिए इस दिशा को भी साफ-सुथरा रखें और कभी भी इस जगह अंधेरा ना होने दें। ऐसा करने से परिवार के सदस्यों में आपसी मनमुटाव हो जाता है और धन के आभाव को झेलना पड़ता है।

*- दक्षिण दिशा को यमराज की दिशा कहा जाता है। इसलिए इस दिशा में भूलकर भी घर का मुख्य द्वार ना बनवाएं। साथ ही इस दिशा में धन रखना भी हानिकारक होता है। यह दिशा आपके धन को धीरे-धीरे ख़त्म कर देती है साथ ही आपकी उम्र भी कम होती है।

*- घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में घर के मुखिया का कमरा नहीं होना चाहिए। अगर ऐसा होता है तो घर के मुखिया को हमेशा परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

*- भूलकर भी घर की उत्तर-पूर्व दिशा में रसोई घर नहीं बनवाना चाहिए। इससे घर के बजट पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

इन बातों पर भी करें विचार:

*- स्नान करने के बाद स्नानघर को तुरंत ही साफ करें। इसे गन्दा छोड़ देने से परेशानियां बढ़ जाती हैं।

*- घर के पानी को बिना वजह बर्बाद नहीं करना चाहिए। जरूरत ना होने पर नल बंद कर दें।

*- सूर्योदय होने से पहले ही घर के हर सदस्य को अपने बिस्तर से उठ जाना चाहिए।

*- घर के रसोई घर को हमेशा साफ-सुथरा रखना चाहिए। यहीं से पूरे घर का पेट भरता है, अगर यही गन्दा रहेगा तो बाद में भोजन की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.