मोदी सरकार के खिलाफ धरना और प्रदर्शन करने उतरेंगे यह बीजेपी नेता, उठाना चाहते हैं रहस्य से पर्दा!

भारत की आजादी का सपना लिए आजाद हिन्द फौज का गठन करने वाले नेता जी सुभाष चन्द्र बोस की मौत और उनके अंतिम समय से जुड़े दस्तावेजों पर राजनीति कोई नई बात नहीं है, इस सम्बन्ध में बहुत पहले से दस्तावेजों को सार्वजानिक किये जाने की मांग उठती रही थी. सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी जब तक विपक्ष में थी इस मुद्दे को हमेशा उठती रही है और नेता जी से जुड़े दस्तावेजों को सार्वजानिक किये जाने की मांग करती रही है.

नेता जी की मौत से जुड़े रहस्यों का खुलासा नहीं हो सका :

बीजेपी जब सत्ता में आ गयी तो अपने वादे के मुताबिक बीजेपी ने इन फाइलों को सार्वजानिक किया. बड़ी संख्या में ऐसी तमाम फाइलों को सार्वजानिक किया गया. लेकिन उन फाइलों से नेता जी की मौत से जुड़े रहस्यों का खुलासा नहीं हो सका. अब एकबार फिर नेताजी की मौत से जुड़े रहस्यों से जुडी कुछ फाइलों और दस्तावेजों को सार्वजनिक किये जाने की मांग उठने लगी है.

नेताजी के परिजन करेंगे मोदी सरकार के खिलाफ आंदोलन :

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के परिजनों ने पीएम मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है, नेताजी के भाई के पोते और बीजेपी नेता चन्द्र बोस ने बताया कि इस समबन्ध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा गया है, और इस सप्ताह से वह मोदी सरकार के खिलाफ आन्दोलन की शुरुआत करेंगे.

आपको बता दें कि साल 2015 में नेता जी के परिजनों ने पीएम मोदी से मुलाकात कर फाइलें सार्वजानिक करने की मांग की थी जिसके बाद केंद्र सरकार ने सुभाष चन्द्र बोस से जुडी तमाम फाइलों को सार्वजानिक भी किया था. केंद्र सरकार ने नेताजी के परिजनों को सम्मानित भी किया था. इसके बाद अब इस तरह से आन्दोलन की घोषणा करना थोडा ठीक नहीं लगता है.

नेता जी के परिजनों का मानना है कि दस्तावेजों के सार्वजानिक किये जाने से नेताजी की मौत से पर्दा उठेगा. इसके लिए वे दिल्ली के जंतर मंतर पर रैली करने की योजना भी बना रहे हैं, उनका कहना है कि सरकार को इस रहस्य से पर्दा उठाना ही होगा. उनका कहना है कि सरकार ने जब सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों का खुलासा कर ही दिया है तो मौत के रहस्य से पर्दा उठाने में क्या दिक्कत है, नेताजी के परिजनों ने इस मुद्दे पर एसआईटी गठन और जांच के बाद रिपोर्ट सनद में पेश किये जाने की मांग भी की है.

आपको बता दें कि पीएम मोदी ने पिछले साल नेताजी के परिजनों से मुलाकात की थी उसके बाद केंद्र ने हर महीने नेता जी से जुड़ी 100 फाइलों को सार्वजानिक किया गया था. मगर नेताजी की मौत से जुड़े रहस्य का खुलासा नहीं हो सका, इसके अलावा नेता जी से जुडी सभी फाइलें सार्वजनिक रूप से उपलब्ध हैं और कोई भी व्यक्ति उन्हें देख सकता है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.