ब्रेकिंग न्यूज़

महाराष्ट्र, पंजाब, दिल्ली में बेकाबू हो रहा है कोरोना, कई शहरों में लगाया गया लॉकडाउन

देश में कोरोना मामलों में आई तेजी को देखते हुए कई राज्यों ने सख्ती बढ़ा दी है और कुछ जगहों पर तो लॉकडाउन भी लगा दिया गया है। महाराष्ट्र, पंजाब, केरल, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और गुजरात में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। जबकि देश की राजधानी दिल्ली में भी कोरोना के मामलों में अब तेजी देखने को मिल रही है और इस साल दिल्ली में पहली बार एक दिन में कोरोना के 1500 से अधिक मामले आए हैं।

देश के जिन राज्यों से कोरोना फैला है, वहां से देश के कुल 80 फीसद मामले सामने आ रहे हैं। इन 80 फीसदी मामलों में से 74 प्रतिशत मरीज केवल तीन राज्यों के हैं जो कि महाराष्ट्र, केरल और पंजाब है। इसके अलावा तमिलनाडु, कर्नाटक, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश में कोरोना की स्थिति बिगड़ती जा रही है और आने वाले समय में इन राज्यों से भी अधिक केस सामने आने लग जाएंगे।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए ही देश के कई शहरों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश सरकार ने कई शहरों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए नांदेड़ और बीड में लॉकडाउन लगा दिया है। इन जिलों में लॉकडाउन 4 अप्रैल तक लगा है। इस दौरान केवल जरूरी दुकाने खुलेंगी। इससे पहले महाराष्ट्र सरकार ने नागपुर में 31 मार्च तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया है।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, खरगौन और रतलाम में रविवार को लॉकडाउन लगाया है। हर शनिवार रात दस बजे से प्रतिबंध लागू हो जाएंगे हो जाएगा। जो सोमवार सुबह छह बजे तक जारी रहेगा। गुजरात के अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट में 31 मार्च तक नाइट कर्फ्यू है। पंजाब के लुधियाना, पटियाला, होशियारपुर, जालंधर और फतेहगढ़ साहिब सहित कई शहरों में रात 9 से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू है।

होली पर लगी रोक

देश में कोरोना के मामलों में बढ़ोत्तरी को देखते हुए कई राज्य सरकारों ने सार्वजनिक तौर पर होली का त्योहार मनाने पर रोक लगा दी है। दिल्ली, यूपी और हरियाणा समेत कई राज्यों ने सार्वजनिक तौर पर होली मनाने पर रोक लगाई है और लोगों को घरों के अंदर ही रहने को कहा है। अगर फिर भी कोई सार्वजनिक तौर होली मानते हुए पकड़ा जाता है, तो नियमों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अप्रैल-मई में और अधिक आएंगे मामले

देश में कोरोना की दूसरी लहर शुरू हो गई है और अनुमान है कि आने वाले दो महीनों में कोरोना के मामलों में ओर तेजी देखने को मिलेगी। अप्रैल-मई के दौरान 25 लाख तक कोरोना के नए मामले आने का अनुमान लगाया गया है। अगर हालातों को काबू में न किया गया तो रोज 1 लाख कोरोना के केस भी आ सकते हैं। वहीं कोरोना को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण अभियान ओर तेजी से किया जा रहा है और एक अप्रैल से अब 45 से अधिक आयु के लोग भी कोरोना वैक्सीन ले सकेंगे।

Back to top button