बॉलीवुड

इन म्यूजिकल जोड़ियों पर गिरी है किस्मत की गाज, कभी मिलता था दिन रात काम, आज पहचान को मोहताज़ हैं

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में कई ऐसी म्यूजिक जोड़ियां आईं जिन्होंने भारत को यादगार म्यूजिक दिया है. ऐसी जोड़ियां जिन्होंने सालों साल तक शानदार काम किया है. लेकिन किसी न किसी वजह से ये जोड़ियां टूट गई. टूटने के बाद ये जोड़ियां अपनी पहचान तक के लिए मोहताज़ हो गई है. इनमे से कई तो ऐसे ही जिन्हे आज कोई पहचानता तक नहीं.

लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
कभी भी फिल्म इंडस्ट्री की सबसे लोकप्रिय म्यूजिक जोड़ी की बात की जाएगी तो लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल का नाम सबसे ऊपर आएगा. इन दोनों ने कई सारी फिल्मों में सुपरहिट म्यूजिक दिया. वर्ष 1988 इस जोड़ी के लिए बेहद ही ख़राब था. इस वर्ष गुर्दे फेल होने से लक्ष्मीकांत की मृत्यु हो गई. इसी के साथ म्यूजिक की ये जोड़ी टूट गई. इस जोड़ी के टूटने से पहले इन दोनों ने 450 से अधिक फिल्मों में म्यूजिक दिया था.

निखिल-विनय
निखिल कामत और विनय तिवारी शायद ये नाम किसी कको याद भी नहीं होगा लेकिन इन दोनों ने भी जानदार म्यूजिक दिया था. बेवफा सनम’, ‘जानम’, ‘इश्क हुआ’, ‘कोई मेरे दिल में है’ और ‘फिर मिलेंगे’ फिल्मों में आप इनका म्यूजिक सुन सकते है. ये दोनों 2006 में अलग हो गए थे.

नदीम-श्रवण
90s के गानें आज भी हर जगह सुने जाते है उन सांग्स को चाहने वाले हर जगह है.90s के गानों को यादगार बनाने के पीछे नदीम-श्रवण को ही श्रेय जाता है. इन दोनों ने उस समय की अमूमन हर फिल्म में म्यूजिक दिया था. श्रवण राठौड़ और नदीम सैफी ने ऐसा कमाल किया था कि उनकी कई फिल्मों के सभी सांग्स सुपरहिट थे. दोनों की जोड़ी ने ‘आशिकी’, ‘साजन’, ‘फूल और कांटे’, ‘सड़क’, ‘दीवाना’ जैसी फिल्मों के लिए म्यूजिक दिया था. इसी बीच 1997 में गुलशन कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इसका आरोप नदीम पर लगा. तभी से नदीम देश से फरार होकर अमेरिका रहने लगे.

साजिद-वाजिद
बॉलीवुड के जाने माने म्यूजिक ड्यूओ साजिद-वाजिद ने यादगार गाने दिए है. इसी बीच पिछले साल 1 जून को लंबी बीमारी से लड़ते हुए साजिद के जोड़ीदार वाजिद खान का निधन हो गया था. इन दोनों ने ‘दबंग’, ‘पार्टनर’, ‘एक था टाइगर’ और ‘गुनाह’ जैसी फिल्मों में शानदार काम किया था.

जतिन-ललित
जतिन पंडित और ललित पंडित ये भी एक म्यूजिक परिवार से आते है. दोनों ही सग्गे भाई हैं. इन दोनों ने साथ मिलकर ‘जो जीता वही सिकंदर’, ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’, ‘कुछ-कुछ होता है’, ‘कभी खुशी कभी गम’ और ‘हम तुम’ जैसी सुपरहिट फिल्म्स में म्यूजिक दिया है. इन दोनों ने वर्ष 2000 में लड़ाई कर ली और दोनों अलग हो गए.

दिलीप सेन-समीर सेन
दिलीप सेन और समीर सेन दोनों ही एक ही परिवार से आते थे. इन दोनों ने र ‘आग’, ‘तू चोर मैं सिपाही’, ‘इतिहास’, ‘जिद्दी’ और ‘ये दिल्लगी’ के अलावा कई फिल्मों में यादगार काम किया था. 2000 में दोनों अपना कुछ कारण बता कर अलग हो गए थे.

 

Back to top button
?>