समाचार

ओडिशा में बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण का खतरा, 24 घंटे में इतने मामले आए सामने

देश में कोरोना के मामलों में तेजी आई है और 24 घंटे में 24 हजार से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। ऐसे में कोरोना की दूसरी लहर आने की संभावना बन रही है। कई राज्य हैं जहां पर कोरोना के केस काफी तेजी से बढ़ रहे हैं और इन्हीं राज्यों में से ओडिशा भी एक राज्य है। जनस्वास्थ्य निदेशक डा. निरंजन मिश्र के अनुसार पिछले दो सप्ताह से पूरे देश में संक्रमण की दर कुछ मात्रा में बढ़ी है। जो कि चिंता की वजह है।

जनस्वास्थ्य निदेशक डा. निरंजन मिश्र ने आगे कहा कि ये कोरोना की दूसरी लहर है या नहीं यह स्पष्ट रूप से नहीं कहा जा सकता है। लोग थोड़ी सी असावधानी बरत रहे हैं। ऐसे में राज्य में संक्रमण बढ़ने की सम्भावना अधिक है। जबकि कोरोना टीकाकरण को लेकर परिवार कल्याण निदेशक विजय पाणीग्राही ने कहा है कि हर दिन 1 लाख वरिष्ठ नागरिक को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है। राज्य में टीका केन्द्र को बढ़ाया गया है। इस समय ओडिशा में 700 केन्द्रों में कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। स्वास्थ्य कर्मचारी एवं फ्रंट कोरोना वैरियर को टीका लगाने की प्रक्रिया समापन की तरफ है।

इन्होंने आगे कहा कि 91 प्रतिशत स्वास्थ्य एवं 80 प्रतिशत फ्रंट कोरोना योद्धा कोरोना टीका ले चुके हैं। रविवार एवं छुट्टी के दिन के अलावा सभी दिन टीका दिया जाएगा। टीकाकरण अभियान तेजी से चल रहा है। इसी बीच मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने लोगों से अपील की है कि वो कोविड गाइडलाइन का अनुपालन करें।

गौरतलब है कि राज्य में इस समय कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है। ओडिशा में पहला मामला 16 मार्च को सामने आया और अभी तक 3 लाख 38 हजार 258 लोग  कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। इसमें 3 लाख 35 हजार 660 लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। जबकि 627 सक्रिय मामले हैं। इसी तरह से 1918 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। ओडिशा में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 66 नए मामलों की पुष्टि हुई है। लेकिन जिस तरह से कई राज्यों में इस समय कोरोना का हालात बनें हैं, उससे ओडिश में भी कोरोना के मामले आने वाले समय में बढ़ सकते हैं।

वहीं दूसरी ओर देश में कोरोना टीकाकरण अभियान भी तेजी से चलाया जा रहा है और इस अभियान का दूसरा चरण शुरू हो गया है। जिसके तहत 60 से अधिक आयु व 45 आयु से अधिक उन लोगों को कोरोना की वैक्सीन दी जा रही है, जो की गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं।

Back to top button
?>