विशेष

बालाजी मोटर्स के मालिक ने अनोखे अंदाज में की अपनी बेटी की विदाई, देखने के लिए उमड़ गई भीड़

जयपुर के माधोकाबास गांव में रविवार को एक अनोखी शादी हुई। जिसे देखने के लिए गांव वालों की भीड़ जमा हो गई। इस शादी के दौरान पहले दूल्हा और दुल्हन ने सात की जगह आठ फेरे लिए। उसके बाद इनकी विदाई अलग तरीके से की गई। विदाई के दौरान कस्बे समेत आसपास के गांव के लोग भी जमा हो गए। माधोकाबास निवासी बालाजी मोटर्स के मालिक बाबूलाल गुर्जर की बेटी पूजा की शादी जमवारामगढ़ के पाली गांव निवासी डॉ. देवनारायण गुर्जर के पुत्र अजयराज के साथ हुई। शादी के दौरान दूल्हा और दूल्हन ने एक फेरा अधिक लिया। जो कि कोविड-19 से जुड़ा हुआ था।

सात फेरों के बाद आठवां फेरा लेते हुए जोड़े ने कोविड-19 के नियम का पालन करने व अधिक से अधिक लोगों को कोविड-19 के प्रति जागरूक करने और स्वच्छता का संदेश अपना कर जन-जन तक प्रसारित करने का संकल्प लिया। शादी में आए जयपुर ग्रामीण सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष राव राजेंद्र सिंह सहित विभिन्न जनप्रतिनिधियों ने आठवें फेरे के संकल्प पर खुशी भी जताई।

शनिवार देर रात शादी होने के बाद सुबह इनकी विदाई की गई। जो कि हेलीकॉप्टर के जरिए हुई रविवार सुबह वधु के परिजनों ने वधु पूजा व दूल्हे अजय राज को हेलीकॉप्टर में बैठा कर विदाई किया। वहीं जैसे ही लोगों को गांव में हेलीकॉप्टर आने की बात पता चली तो काफी भीड़ जमा हो गई और हर कोई हेलीकॉप्टर का इंतजार करने लगा। हेलीकॉप्टर को देखकर गांव के लोग काफी खुश हुए। ये पहला मौका था जब माधोकाबास गांव में हेलीकॉप्टर आया था। वहीं हेलीकॉप्टर को लाने से पहले एक खेत को अच्छे से साफ किया गया और उस पर हैली पैड बनाया गया। इस शादी की चर्चा माधोकाबास गांव और उसके आसपास के इलाके में खूब की जा रही है और जो संकल्प शादी के दौरान पूजा और अजय ने लिया उसके लिए भी इनकी खूब तारीफ हो रही है।

Back to top button