अध्यात्म

आज का दिन है बहुत खास, भगवान शंकर की आराधना से बदलेंगे आपके बुरे दिन! जानिये कैसे?

आज का दिन बहुत ही खास है। आज सोमवार है यानी कि भगवान शंकर का दिन साथ ही आज सोम प्रदोष व्रत और मासिक शिवरात्रि व्रत साथ-साथ पड़ रहे हैं। इस वजह से यह दिन और भी खास हो जा रहा है। यह शुभ संयोग बहुत दिनों बाद आया है। इस दिन भगवान शंकर का किया गया ध्यान आपके बुरे दिन को हमेशा के लिए बदल डालेगा।

भगवान शंकर : दिन-रात हैं बहुत शक्तिशाली –

आज का दिन और रात दोनों भगवान शंकर की अराधना के लिए उपयुक्त हैं। आज के दिन और रात को बहुत ही शक्तिशाली और फलदायी माना जाता है। आज के दिन भगवान शंकर के रुद्राभिषेक की खास बेला है। प्रदोष व्रत महीने में दो बार आने वाले शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को कहते हैं। अगर इन दिनों सोमवार पड़ता है तो इसे सोम प्रदोष व्रत कहा जाता है।

इस दिन लोग व्रत-उपवास रखते हैं। प्रदोष व्रत के बारे में कहा गया है कि जो व्यक्ति सभी तरह के सत्कर्म, पूजा-पाठ करने के बाद भी जीवन में कष्ट, पारिवारिक कलह, संतान की कमी, धन की परेशानी से जूझ रहा है, अगर वह महीने में दो बार पड़ने वाले प्रदोष व्रत के दिन भगवान का अच्छे से ध्यान करके दान-पुन्य करे तो उसके जीवन की सभी परेशानियां खत्म हो जाती हैं।

शनि का भी बुरा प्रभाव होता है कम-

ज्योतिषियों के अनुसार जिस व्यक्ति के जीवन में चन्द्र ग्रह का बुरा प्रभाव हो उसे साल भर प्रदोष व्रत करना चाहिए। यह बात मायने नहीं रखती है कि प्रदोष व्रत किस दिन पड़ रहा है। केवल यही नहीं प्रदोष व्रत का उपवास रखकर लोहा, काली उड़द, तिल, शकरकंद, कम्बल, जूता, मूली और कोयला आदि दान करने से शनि का बुरा प्रभाव भी कम हो जाता है।

ऐसा करने से व्यक्ति की कई परेशानियां रोग, घर की अशांति दरिद्रता, व्याधि, व्यापार या नौकरी सम्बन्धी परेशानियों का अंत हो जाता है। जिन लोगों को कोई संतान नहीं है, उन्हें इस व्रत के दौरान मिठाई या फल गाय को खिलाना चाहिए। इसका जल्द ही लाभ होता है और उनकी सूनी गोद जल्द ही भर जाती है। इस दिन संतान की कामना करने वाले दंपत्ति को सुबह उठकर स्नान करके शिव, पार्वती और गणेश की आराधना करके किसी शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर जलाभिषेक करके सारे दिन निर्जल रहकर उपासना करनी चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close