लाल जोड़ा पहना मायके वालों ने किया बेटी को विदा, ससुराल पहुंचने से पहले चढ़ गया सफेद कफन

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक परिवार बसने के तीसरे दिन ही उजड़ गया। जिस माता पिता ने अपनी बेटी को लाल जोड़े में विदा किया था कुछ ही दिनों में उसके ऊपर सफेद कपन चढ़ गया। शादी के तीन दिन बाद ही दुल्हन की मौत हो गई। वहीं दूल्हा गंभीर रूप से घायल होकर अस्पताल में एडमिट है। अब इस दुखद मंजर को देख दोनों के घरवाले बिलख-बिलखकर रो रहे हैं।

दरअसल बढ़ापुर निवासी पूजा की शादी 16 फरवरी को किरतपुर के गांव मोचीपुरा में हुई थी। 19 फरवरी को वह मायके से विदा होकर अपने ससुराल मोचीपुरा जा रही थी। यहां रास्ते में नजीबाबाद में रायपुर रोड पर एक अज्ञात ट्रैक्टर ट्रॉली ने पूजा की कार को जोरदार टक्कर मार दी। यह टक्कर इतनी भनायक थी कि पूजा सहित कार में बैठे सभी 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

इस हादसे में हाथों में मेहंदी लगाकर और लाल जोड़ा पहन बैठी पूजा को सबसे अधिक चोट आई। वह खून से लथपथ कई देर तक रोड पर पड़ी रही। इस वजह से उसकी मौत हो गई। उधर दूल्हा सहित अन्य परिजन गंभीर रूप से घायल हो गए। बाद में जब इसकी जानकारी उनके परिजनों को लगी तो उन्होंने सभी को अस्पताल में भर्ती करवाया। लेकिन यहां दुल्हन पूजा की जान नहीं बच सकी। बाकी सभी लोगों का इलाज चल रहा है।

हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची। जांच में उन्हें पता चला कि ट्रैक्टर ड्राइवर कार को टक्कर मारने के बाद भाग गया। फिलहाल पुलिस उसकी तलाश कर रही है। वहां मौजूद लोगों के अनुसार दोनों ही वाहन तेज रफ्तार में थे। स्थानीय राहवासियों ने बताया कि इस रास्ते पर स्पीड ब्रेकर न होने की वजह से अक्सर हादसे होते रहते हैं। उन्होंने प्रशासन को कई बार यहां स्पीड ब्रेकर लगवाने के लिए कहा लेकिन कोई एक्शन नहीं लिया गया। बाद में पुलिस ने लोगों को आश्वासन दिया कि वे जल्द ही स्पीड ब्रेकर लगवा देंगे।

इस हादसे के बारे में दूल्हे-दुल्हन की कार चला रहे चालक तन्मय ने कहा कि हम लोग कार से जा रहे थे तभी ट्रैक्टर ट्रॉली ने हमारी गाड़ी को साइड से टक्कर मार दी। इस कारण मैने कार से कंट्रोल खो दिया। कार चालक ने ये भी बताया कि टक्कर मारने के बाद  ट्रैक्टर ट्रॉली ड्राइवर अपना वाहन लेकर वहां से भाग गया।

घटना बेहद दुखद है, लेकिन इससे एक सिख यह भी लेना चाहिए कि वाहन तेज रफ्तार में नहीं चलाना चाहिए।