दिलचस्प

घर वालों को गर्भवती होने की बात पता न चल जाए, इसलिए 8वीं क्लास की छात्रा ने कर लिया बड़ा काण्ड

गुजरात के सूरत से एक सनसनीखेज मामला सामने आ रहा है. एक ऐसा मामला जिसने सभी को दहला कर रख दिया है. माता-पिता की परवरिश एक बच्ची की गलती भारी पड़ गई. जब माता – पिता के सामने सच्चाई आई तो उन्हें यकीन नहीं हो पा रहा था कि ऐसा भी हो सकता है.

गुजरात के सूरत से एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है. सूरत में एक 14 साल की लड़की जो आठवीं कक्षा में पढ़ती थी. उसने अपने घर में आत्महत्या कर के अपने घर वालो को चौका दिया. मामले में जब पुलिस ने छान-बीन करते हुए शव का पोस्टमार्टम करवाया तो एक हैरत अंगेज़ करने वाली सच्चाई से पर्दा उठा. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला की वह लड़की गर्भवती थी. रिपोर्ट के मुताबिक आत्महत्या के वक़्त लड़की तक़रीबन दो महीने की गर्भवती हो चुकी थी.

पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की इन्वेस्टीगेशन शुरू कर दी है. वहीं गर्भाशय से पाए गए भ्रूण के सैंपल को जाँच के लिए लेब दे दिया गया है. यह दिल दहला देने वाली घटना सूरत के उन पाटिया के तिरुपति नगर की है. आत्महत्या करने वाली छात्रा का परिवार मूलरूप से बिहार के छपरा का रहने वाला है. इनका पूरा परिवार रविवार को बिहार जाने की तैयारी में जुटा था. इसी बीच लड़की का पिता घर से 200 रूपये लेकर गुरुवार को सब्जी लेने गया था. जब पिता बाज़ार से सब्जी लेकर घर लौटा तो उसने घर की दूसरी मंजिल पर 14 वर्षीय बेटी को फांसी पर लटकता पाया. लड़की ने फांसी के लिए अपने दुपट्टे का इस्तेमाल किया था.

पुलिस ने जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचकर मामला दर्ज किया और किशोरी के शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में भेज दिया था. पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉ. ओंकार चौधरी ने रिपोर्ट्स के आधार पर यह बताय कि, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से किशोरी के गर्भाशय से भ्रूण के सिम्टम्स सामने आए है. किशोरी का परीक्षण सकारात्मक पाया गया है. इस मामले में जब किशोरी के घर वालों को सुचना दी गई तो एक मर्तबा तो उन्हें विश्वास नहीं हुआ और उनके पैरों तले से जमीन खिसक गई. मामले मे डॉक्टर ने आगे की जाँच के लिए लड़की के हिस्टोपैथोलॉजी का एक नमूना प्रयोगशाला में दिया है.

इस प्रकरण में पुलिस आगे की जांच कर रही है. पुलिस को मामले मे शक है कि लड़की का किसी से संबंध था. यह बात घर में किसी को पता न चल जाए इसलिए इस डर से लड़की ने आत्महत्या कर ली. पुलिस ने मामले में बताया कि अभी आत्महत्या के एंगल से जाँच की जा रही है. जल्द ही दुष्कर्म के एंगल से भी जांच शुरू की जाएगी. यक़ीनन इस तरह के मामले समाज और घर वालों को तोड़ कर रख देते है. बच्चों की गलतियों के लिए हमेशा माँ-बाप की परवरिश को जिम्मेदार ठहराया जाता है.

Back to top button
?>