राजनीति

राजनाथ सिंह ने चीन को दिया दो टूक जवाब, कहा जब तक चीन पीछे नहीं हटेगा, तब तक भारत भी डटे रहेगा

भारत और चीन दोनों ही देशों के बीच लगभग एक साल से ज्यादा समय से विवाद चल रहा है. चीन ने भारत की सीमा पर अपने सैनिक लगा दिए है. चीन हर बार की तरह इस बार भी भारत की जमीन पर बुरी निगाहें बनाकर बैठा है. चीन कई बार भारत की जमीन पर अपना दावां ठोक चुका है. भारत की जमीन हड़पने के लिए चीन कई बार भारत को धमकी भी दे चुका है.

इस वक़्त भी भारत और चीन की सीमा (LAC) पर जारी गतिरोध के कारण तनाव बना हुआ है. दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने डटे हुए हैं. इस तनाव के बारे में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को स्पष्ट और सख्त शब्दों में कहा है कि भारत सैनिकों की संख्या में तब तक कोई कमी नहीं करेगा, जब तक चीन खुद अपने सैनिक सीमा से हटाना पीछे नहीं करता. इसके बाद उन्होंने यह भी कहा कि समस्या का हल बातचीत से निकाला जाएगा.

इस दौरान देश के रक्षा मंत्री सिंह ने यह भी कहा कि सीमा क्षेत्रों में भारत बहुत ही तेजी से आधारभूत ढांचे को विकसित करने में काम कर रहा है और चीन के अंदर इन्हीं प्रोजेक्ट्स के काम को लेकर बैचेनी बनी हुई है. एक निजी न्यूज़ चैनल को दिए गए इंटरव्यू में राजनाथ सिंह ने कहा कि, ”किसी भी स्तिथि में सीमा से सैनिकों की संख्या में कमी नहीं की जाएगी. भारत अपने सैनिक तब तक पीछे नहीं करेगा, जब तक की चीन खुद अपने सैनिक सीमा से नहीं हटाएगा.”

चीन – भारत सीमा विवाद पर चीन से बातचीत करने के मसले पर जब रक्षा मंत्री से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, ” जिस तरह के हालात अभी चल रहे है और जो गतिरोध हो रहा है, ऐसे मुद्दों को लेकर कोई समयसीमा निर्धारित नहीं की गई है. मसले पर आप कोई एक तारीख फाइनल नहीं कर सकते” उन्होंने यह भी कहा कि, ” हमें बातचीत के रास्ते से इस विवाद का हल निकलने को लेकर पूरा विश्वास है.”

सोशल मीडिया पर यह बात वायरल हो रही है कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश में एक गांव बसा लिया है. जिसे कुछ दिन पहले राहुल गाँधी ने भी दोहराया था. इस सवाल पर सिंह ने कहा कि यह इलाका सीमा से सटा हुआ है और इस तरह के बुनियादी ढांचे को कई बार बनाया गया है. विदेश मंत्री एस जयशंकर द्वारा कहा गया था कि चीन ने भारत का भरोसा तोड़ा है. चीन के साथ भारत के संबंध पिछले चार दशकों में न्यूनतम स्तर पर हैं. इस पर राजनाथ सिंह ने जवाब दिया कि निःसंदेह चीन ने भारत का भरोसा तोड़ा है.

रक्षा मंत्री ने राज्यसभा से भी चीन को दिया था कड़ा सन्देश
रक्षा मंत्री ने पिछले साल सितम्बर में राज्यसभा में कहा था कि देश हित में चाहे जितना बड़ा या कड़ा क़दम उठाना पड़े भारत कभी पीछे नहीं हटेगा. राजनाथ सिंह ने साथ ही यह भी कहा था कि भारत न तो अपना मस्तक झुकने देगा और न ही किसी और का मस्तक झुकाना चाहता है.

Back to top button
?>