विशेष

देवर घुसा भाभी के कमरे में और फिर… लखनऊ से सामने आया इंसानियत को तार-तार कर देने वाला मामला

यूपी के लखनऊ से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. एक ऐसा मामला जिसने न सिर्फ इंसानियत को तार-तार किया बल्कि भाभी-तेवर के पवित्र रिश्ते को भी बदनाम कर दिया है. यह मामला जो हम आपको बताने वाले है, इसे जानकर आपके भी होश उड़ जाएंगे.

उतरप्रदेश की राजधानी लखनऊ के हसनगंज क्षेत्र में एक देवर ने अपनी भाभी के कमरे में घुसकर उसके साथ दुष्कर्म करने प्रयास किया. इसके बाद जब वह औरत अपनी आबरू बचते हुए वहां से भागते हुए अपने पति के पास पहुंची तो उसके पति ने भी उसके साथ न दिया. उसके पति ने भी उसे तलाक दे डाला.

इस मामले में पीड़िता के मुताबिक, उसका देवर अक्सर गलत काम करने के लिए उस पर दबाव बनाता था. बहुत दिनों तक सहन करने के बाद हालात की मारी पीड़िता ने पति और देवर समेत छह ससुरालीजनों के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया है. इसके बाद पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

कमरे में घुस जाता था देवर और दरवाज़ा बंद कर दुष्कर्म का प्रयास करता था..
पीड़िता ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि, बीते हफ्ते जब वह घर पर अकेली थी. इसी दौरान देवर उसके कमरे में घुसा और कुंडी बंद कर दी. इसके बाद वह छेड़छाड़ करने लगा. वह बचाओ-बचाओ चिल्‍लाती रही पर किसी ने उसकी आवाज़ नहीं सुनी. उसके विरोध पर उसने धमकी देते हुए दुष्कर्म का प्रयास किया. किसी तरह घर से भागकर खुद की आबरू को बचाया. वह काफी डर गई. पति और परिवारीजनों के आने पर वह भी घर पहुंची, पर डर के कारण उसने किसी को कुछ बताया नहीं. इसके बाद किसी तरह उसने 14 जनवरी को हिम्मत करके पति को देवर की करतूत के बारे में सब कुछ बताया. इसके बाद पति आग बबूला हो गया. उसने भाई को बोलने के बजाए परिवारीजनों के साथ मिलकर पत्‍नी को जमकर पीटा. पीटने के बाद उसने महिला को तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया. महिला रोते हुए अपने मायके पहुंची. घर जाकर अपने परिवार को पूरी दास्‍तां बयां की. फिर थाने में जाकर मामला दर्ज कराया.

दहेज की मांग और अक्सर पीटते थे..
मामले में पीड़िता ने बताया कि 20 नवंबर 2016 में उसका निकाह हुआ था. शादी के दौरान मायकेवालों ने दहेज भी दिया था. इसके बाद भी उसके ससुराल वाले रोज़ उसे दहेज़ के लिए कहते थे. उसे मारते और प्रताड़ित करते थे. शादी के बाद भी मायकेवाले उनकी बहुत सी मांगे पूरी करते रहे. इस बार वह कार की मांग करने लगे. पर इस बार मांग पूरी नहीं हुई तो मारपीट करने लगे. इस दौरान देवर भी परेशान करने लगे. वह अक्सर गलत काम करने का दबाव बनाता था.

इस मामले में इंस्पेक्टर अमरनाथ वर्मा ने जानकारी दी कि विवाहिता की शिकायत पर उसके पति, देवर समेत छह ससुराल वालों के खिलाफ मारपीट, दहेज प्रताड़ना और तीन तलाक का मुकदमा दर्ज किया जा चुका है. पीड़िता ने अपने देवर पर दुष्कर्म के प्रयास का भी आरोप लगाया है. हम लोग मामले की जाँच कर रहे है.

Back to top button
?>