समाचार

ठंड से बचने की जुगाड़ पड़ी महंगी, नींद में ही हो गए भगवान को प्यारे, आप न करें ऐसी गलती

दिल्ली, पंजाब से लेकर हरियाणा, उत्तर प्रदेश एवं उत्तरी राजस्थान तक इन दिनों भीषण ठंड पड़ रही है। ऐसे में इस भयंकर सर्दी से बचने के लिए लोग तरह तरह की जुगाड़ अपनाते हैं। ऐसा ही एक जुगाड़ है कमरे में अंगीठी जलाकर और दरवाजा बंद कर सो जाना। यदि आप भी ऐसा कुछ करते हैं तो संभाल जाइए। हाल ही में दो अलग अलग ऐसे मामले सामने आए हैं जहां कमरे में अंगीठी जलाकर सोने से लोगों की मौत हो गई।

पहली घटना फिरोजपुर के मल्लांवाला थाने इलाके के हामदवाला गांव की है। यहां राजबीर कौर नाम की एक महिला अपने दोनों बेटों साहिलप्रीत (12) व एकमप्रीत (5) के साथ कमरे में अंगीठी जलाकर और दरवाजे खिड़की बंद कर ठंड से बचने के लिए सोई थी। ऐसे में अंगीठी से निकला धुआं बाहर जाने कोई कोई जगह नहीं बची और दम घुटने से तीनों की मौत हो गई। डाक्टरों के अनुसार ऐसी स्थिति में कमरे में ऑक्सीजन की मात्रा कम या खत्म हो जाती है।

आस पड़ोसियों के अनुसार मृतक महिला राजबीर हर सुबह उठकर भैंसों का दूध निकाला करती थी। जब उस दिन बहुत देर होने पर भी वह बाहर नहीं निकली, और उसके बच्चे भी नहीं दिखाई दिए तो हमने कमरे का दरवाजा खोला। यहां हमे माँ और उसके दोनों बेटों के शव मिले। बाद में पुलिस मौके पर आई और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। रिपोर्ट में तीनों की मौत का कारण दम घुटना निकला।

इससे मिलता जुलता एक अन्य मामला अमृतसर के थाना कोतवाली इलाके में देखने को मिला। यहां भी रजीना बेगम और अबजल अपने बेटे रिजवान के साथ कमरे में अंगीठी जला कर सोए थे। हालांकि सुबह तक मां बेटे की मौत हो गई जबकि पति का गुरू नानक अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसकी हालत भी गंभीर है।

बताते चलें कि पंजाब और हरियाणा में इस तरह के कई मामले हर साल सामने आते हैं। न्यूज में ऐसी कई घटनाएं दिखाई जाती है। डॉक्टर्स भी इसकी सलाह नहीं देते हैं। लेकिन इसके बावजूद लोग अपनी आदत से बाज नहीं आते हैं। अपने साथ साथ मासूम बच्चों की ज़िंदगी भी खतरे में डाल देते हैं।

विशेषज्ञों की माने तो दरवाजे खिड़की बंद कर कमरे में अंगीठी लगाकर सोना बहुत खतरनाक होता है। इससे कमरे में ऑक्‍सीजन लेवल खत्म हो जाता है और दम घुटने से व्यक्ति की नींद में ही मौत हो जाती है। इसलिए ठंड से बचने के लिए कमरे में अंगीठी लगाकर सोने की गलतों भूलकर भी न करें।

Back to top button
?>