समाचार

विधवा कर्मचारी बोली- सर जी भाई बीमार है छुट्टी दे दो, बॉस बोला- पहले मेरे साथ सम्बन्ध बनाओ और.

वर्कप्लेस में महिलाओं के साथ होने वाला शोषण कोई नई बात नहीं है। जहां एक तरफ महिलाएं घर संभालने के साथ साथ जॉब कर आगे बढ़ने का प्रयास कर रही है तो वहीं दूसरी ओर उन्हें कई तरह के शोषणों को भी कार्यस्थल पर झेलना पड़ता है। अब राजस्थान के जोधपुर के नगर निगम कार्यालय का यह मामला ही ले लीजिए। यहां निरीक्षक धर्मेद्र गहलोत ने अपनी विधवा सफाई कर्मचारी को छुट्टी देने के बदले संबंध बनाने की मांग रख दी।

दरअसल इस विधवा सफाई कर्मचारी का भाई बीमार था। उसकी अस्पताल में देखरेख करने के लिए महिला को छुट्टी चाहिए थी। ऐसे में जब उसने अपने निरीक्षक धर्मेद्र गहलोत से छुट्टी की विनती की तो उसने कहा कि ‘तू मेरे साथ रिलेशन रख ले, फिर छुट्टी क्या तुझे भाई के इलाज के पैसे भी दूंगा।’ उसने महिला से यह भी कहा कि ‘मैं तुझे बहुत पसंद करता हूं। तू करती है या नहीं? बोल रखेगी मेरे साथ रिलेशन? तू हां या ना में बात तुझे मेरा ऑफर अच्छा लगा या नहीं?’

महिला इसके जवाब में बार बार छुट्टी के लिए गिड़गिड़ाती रही। उसने कहा कि ‘मेरा भाई बहुत बीमार है सर, अभी मैं कुछ कहने की हालत में नहीं हूं। बाद में बात करती हूं।’ यह बोल उसने फोन काट दिया। हालांकि दोनों के बीच हुआ यह ऑडीयो कॉल अब सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हो रहा है।

दुर्भाग्य की बात ये रही कि बाद में महिला के भाई की अपसताल में मौत भी हो गई। जब महिला ने अपने साथ हुई घटना की शिकायत नगर निगम के उच्च अधिकारियों से की तो उन्होंने इस शिकायत को निगम कमिश्नर के पास भेज दिया। इसके बाद निगम कमिश्नर ने आरोपी को नौकरी से हटा दिया। इसके साथ ही इस मामले की जांच करने के आदेश भी दिए।

उधर नगर निगम के अन्य कर्मचारियों को जब इस घटना का पता चला तो सबने मिलकर आरोपी के खिलाफ नारेबाजी की और उसकी धुनाई भी कर दी। अब यह पूरा मामला सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है।

बताते चलें कि इस महिला की तरह भी देश में और भी कई महिला कर्मचारी हैं जो वर्कप्लेस पर पुरुषों कि गंदी सोच का शिकार होती है। कभी उनका बॉस उन्हें गंदी नज़रों से देखता है तो कभी ऑफिस का सहकर्मी लाइन मारता है। महिलाओं के साथ होने वाली ऐसी घटनाओं पर पूर्ण विराम लगाने की जरूरत है। उनके लिए वर्कप्लेस एक सेफ महोल होना चाहिए। जहां वे पुरुषों की तरह बिना डर के काम कर सके।

Back to top button
?>