समाचार

सांता क्लॉज बन कर 157 लोगों को किया कोरोना संक्रमित, बांटने आया था खुशी दे गया ग़म

बेल्जियम में क्रिसमस डे के दिन सांता क्लॉज बने एक व्यक्ति ने 157 लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमित कर दिया। बताया जा रहा है कि क्रिसमस पर एक व्यक्ति सांता क्लॉज बना था और इस व्यक्ति ने क्रिसमस डे के दौरान कई लोगों से मुलाकात की थी। साथ में ही लोगों को तोहफे भी दिए थे। जो-जो लोग इस सांता क्लॉज के संपर्क में आए उन्हें कोरोना वायरस हो गया।

कोरोना वायरस से ग्रस्त हुए सारे लोग एक ही केयर होम सेंटर के हैं और एक साथ रहते हैं। अखबार में छपी खबर के अनुसार क्रिसमस डे के मौके पर एक व्यक्ति सांता क्लॉज बनकर इन्हें खुशियां बांटने आया था। लेकिन सांता क्लॉज बने शख्स को कोरोना वायरस था। जिसके कारण ये जिन लोगों के संपर्क में भी आया। वो भी कोरोना की चपेट में आए गए। केयर होम के 157 लोगों को कोरोना वायरस हो गया। जबकि 5 लोगों को मौत हो गई है।

रिपोर्ट के अनुसार इस व्यक्ति से वहां रह रहे 121 लोगों और उनकी देखभाल में लगे 36 स्टाफ को कोरोना हुआ है। इस केयर होम में रहने वाले पांच लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण के चलते मौत हो गई। ये घटना करीब दो हफ्ते पुरानी है। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, सांता क्लॉज अपने कुछ साथियों के साथ दो हफ्ते पहले बेल्जियम के एन्टवर्प के केयर होम में पहुंचा था। जिसके बाद इस केयर होम में एक के बाद कई कोरोना के मामले पाए जाने लगे। वहां रह रहे सभी लोगों और उनकी देखभाल कर रहे सभी स्टाफ की टेस्टिंग की गई।

यहां पर रहने वाले 157 लोग जब कोरोना से संक्रमित पाए गए। तो सांता क्लॉज को ही सुपरस्प्रेडर करार दिया गया। बेल्जियम के एक प्रमुख वायरोलॉजिस्ट मार्क वैन रैन्स्ट ने कहा है कि उन्हें शक है कि सांता क्लॉज की वजह से इतने बड़े पैमाने पर लोग संक्रमित हुए होंगे। इन्होंने साथ में ही केयर होम में खराब वेंटिलेशन को भी कोरोना फैलने के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, केयर होम आने के तीन दिन बाद सांता क्लॉज खुद पॉजिटिव पाए गए थे। वहीं केयर होम में 24 और 25 दिसंबर को पांच लोगों की मौत हो गई। जबकि एक अन्य व्यक्ति को ऑक्सीजन वेंटिलेंटर पर रखा गया है। स्थानीय मेयर विम कीयर्स ने इस घटना पर कहा कि केयर होम के लिए ये बुरा समय है। कुछ दिन बहुत ही मुश्किल भरे होंने वाले हैं। इससे पहले मेयर ने ये दावा किया था कि सांता क्लॉज के केयर होम जाने के दौरान नियमों का पालन हुआ था। लेकिन बाद में कुछ तस्वीरें सामने आई। जिनको देखकर मेयर ने अपना बयान बदल लिया और ये बात मान ली की यहां नियमों का पालन नहीं हुआ।

गौरतलब है कि इस बार कोरोना वायरस के कारण क्रिसमस पर खास रौनक देखने को नहीं मिली और लोगों ने अपने घरों के अंदर रहकर ही इस पर्व को मनाया। कई देशों की सरकारों ने क्रिसमस से पहले ही लॉकडाउन भी लगा दिया था। ताकि कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सके। लेकिन बेल्जियम में जरा सी लापरवाही के कारण 157 लोगों को एक साथ ये संक्रमण हो गया।

Back to top button