ब्रेकिंग न्यूज़

जगन्नाथ मंदिर के 400 पुजारियों को हुआ कोरोना, सरकार ने किया धार्मिक स्थल बंद रखने का फैसला

ओडिशा के जगन्नाथ पुरी मंदिर में काम करने वाले 404 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इतनी संख्या में कर्मचारियों के संक्रमित पाए जाने के बाद मंदिर में हड़कंप मच गया है और अब मंदिर का सैनिटेशन किया जा रहे हैं। इस बारे में जानकारी देते हुए श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन के प्रशासक अजय जेना ने बताया कि मंदिर के कुल 404 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिनमें से 351 सेवादार हैं और 53 अन्य कर्मचारी कोरोना हैं। इतनी बड़ी संख्या में सेवादारों और कर्मचारियों की अनुपस्थिति के बाद भी मंदिर के काम जारी रहेंगे और भगवान जगन्नाथ का अनुष्ठान होगा।

दरअसल मंदिर में भगवान बालभद्र, देवी सुभद्रा और भगवान जगन्नाथ का अनुष्ठान होता है और ये अनुष्ठान कम से कम 13 पुजारी एक ग्रुप में करते हैं। जबकि सेवादार इस दौरान पुजारियों की मदद करते हैं। ताकि अनुष्ठान सही से हो सके। अनुष्ठान रोज तड़के शुरू होते हैं और देर रात तक चलता है। ऐसे में मंदिर के लोगों को कोरोना वायरस होने से अनुष्ठान पर असर पड़ सकता है।

जगन्नाथ संस्कृति के शोधकर्ता भास्कर मिश्रा ने कहा कि अगर एक अनुष्ठान नहीं किया जाता है, तो मंदिर की परंपरा के अनुसार उसका अगला अनुष्ठान भी नहीं किया जा सकता है। इसलिए अनुष्ठान को जारी रखा जाएगा। हालांकि अगर मंदिर के ओर लोग कोरोना संक्रमित पाए जाते हैं, तो अनुष्ठान करने में समस्या पैदा हो सकती है। वहीं अब प्रशासन कनिष्ठ सेवादारों को अनुष्ठान में शामिल करने के प्रस्ताव पर विचार कर रहा है।

भक्तों के लिए किया मंदिर को बंद

एक पीआईएल पर ओडिशा सरकार ने हाई कोर्ट की ओर से जारी नोटिस का जवाब देते हुए बताया कि कोरोना महामारी के चलते भक्तों के लिए पुरी में श्री जगन्नाथ मंदिर सहित अन्य मंदिरों को अभी नहीं खोला जाएगा। कोर्ट में हलफनामा दायर कर सरकार ने कहा अबतक जगन्नाथ मंदिर के 351 सेवादार और 53 अधिकारी कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं। जगन्नाथ मंदिर के गर्भगृह में पर्याप्त जगह नहीं है। अगर भक्तों के लिए मंदिर को खोला गया, तो कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ने की संभावना है।

गौरतलब है कि पुरी जिले में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। यहां अब तक कुल 9,704 कोरोना के केस सामने आ चुके हैं। ऐसे में उड़ीसा सरकार ने राज्य के मंदिरों को बंद रखने का फैसला किया है। दरअसल देश की कई राज्य सरकारों ने मंदिर को खोल दिया है। लेकिन उड़ीसा सरकार अभी मंदिर खोलने के पक्ष में नहीं हैं। राज्य सरकार ने हाई कोर्ट को बताया है कि मौजूदा हालात को देखते हुए धार्मिक स्थलों को अभी नहीं खोला जा सकता है।

Back to top button