ब्रेकिंग न्यूज़

कोरोना वायरस की चपेट में आए उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, खुद को किया होम क्वारंटाइन

देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जिसके बाद इन्होंने खुद को होम क्वारैंटाइन कर लिया है। इनके अलावा इनकी पत्नी उषा नायडू का भी कोरोना टेस्ट किया गया था। लेकिन इन्हें कोरोना वायरस नहीं निकला है। बताया जा रहा है कि उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का रूटीन टेस्ट के दौरान कोरोना वायरस का टेस्ट किया गया था। जिसमें ये पॉजिटिव पाए गए। इनकी उम्र 71 साल की है।


उपराष्ट्रपति के ट्विटर अकाउंट ने जरिए इन्हें कोरोना वायरस होने की पुष्टि की गई और एक ट्वीट करते हुए कहा गया कि, ”रूटीन कोरोना वायरस के टेस्ट के दौरान भारत के उपराष्ट्रपति आज सुबह पॉजिटिव पाए गए। हालांकि, उन्हें कोई लक्षण नहीं थे और स्वास्थ्य भी अच्छा है। उन्हें होम क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी गई है। उनकी पत्नी ऊषा नायडू की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है और अभी सेल्फ आइसोलेशन में हैं।”

कार्यक्रम को किया था संबोधित

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने मंगलवार को ही फिक्की द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित किया था। इस कार्यक्रम के दौरान इन्होंने बेहतर गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवाएं आसान और सस्ती बनाने की बात कही थी। अपने संबोधन में इन्होंने कहा था कि ”निजी क्षेत्र आगे आ सकते हैं और सार्वजनिक-निजी साझोदारी (पीपीपी) के जरिए इन क्षेत्रों में अपना विस्तार कर सकते हैं।’

इनके अलावा बीजेपी की नेता उमा भारती को भी कोरोना वायरस हो गया है और इन्होंने खुद को होम क्वारैंटाइन कर रखा है। उमा भारती ने कुछ दिनों पहले ट्वीट कर कोरोना वायरस होने की जानकारी दी थी।

गृह मंत्री को भी हो चुका है कोरोना वायरस

गृह मंत्री अमित शाह भी इस वायरस से ग्रस्त हो चुके हैं। अमित शाह को अगस्त महीने में कोरोना वायारस हुआ था। जिसके बाद इनका इलाज मेदांता हॉस्पिटल में किया गया था। कोरोना वायरस सही होने के बाद इन्हें 14 अगस्त को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी।

गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। चिंता की बात ये है कि कई लोगों को कोरोना वायरस से ग्रस्त पाया जा रहा है, लेकिन उनमें वायरस होने के कोई भी लक्षण नहीं हैं। भारत में कोरोना वायरस संक्रमित लोगों का आंकड़ा 62 लाख को पार कर चुका है। जबकि इस वायरस से 97 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। 24 घंटे में कोरोना वायरस के 80 हजार से अधिक केस सामने आए हैं। अगर यहीं रफ्तार भारत में कोरोना वायरस की बनीं रही, तो भारत कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित होने वाला दुनिया का पहला देश बन जाएगा। अभी इस सूची में अमेरिका पहले नंबर पर है।

Back to top button