बॉलीवुड

कभी कंसीव करने में दिक्कत तो कभी मिसकैरेज, बहुत दर्द झेल कर गोरी खान ने दिया 3 बच्चों को जन्म

इस दुनिया में लगभग हर औरत जिंदगी के किसी ना किसी मोड़ पर मां बनने के सपने देखती है। मां बनना भगवान का वरदान माना जाता है और हर महिला जिंदगी के इस खूबसूरत एहसास को महसूस करना चाहती है। हालांकि मां बनना भी बहुत आसान नहीं होता है। इसमें कई बार मिसकैरेज जैसी चीजें हो जाती है तो कपल को गहरा दुख देती है। मिसकैरेज किसी को भी किसी कारण से हो सकता है। सिर्फ आम लोग ही नहीं बल्कि स्टार्स भी मिसकैरेज के दुख से गुजर चुके हैं। हालांकि बहुत से लोग इस बारे में खुलकर बात नहीं करते हैं। बॉलीवुड के ग्लैमर के पीछे बहुत से सितारे ऐसे हैं जो इस दर्द से गुजर चुके हैं। इसमें शाहरुख खान की पत्नी गौरी खान भी शामिल हैं जिन्होंने मिसकैरेज का दर्द झेला और खुद शाहरुख ने इस पर बात की थी।

मिसकैरेज का गम झेल चुकी हैं गौरी खान

शाहरुख और गौरी की जोड़ी बॉलीवुड की सबसे बेहतरीन जोड़ियों में से एक मानी जाती है। गौरी ने शाहरुख का हाथ तब थामा था जब शाहरुख एक आम शख्स थे और शाहरुख ने भी गौरी से ही प्यार किया और उन्हें कभी धोखा नहीं दिया। गौरी और शाहरुख बॉलीवुड के बेस्ट कपल में से एक इसलिए भी माने जाते हैं क्योंकि खुशी के साथ-साथ गम में दोनों ने एक दूसरे के साथ रहते हैं और एक दूसरी की कमियों को खुशी से स्वीकार कर लेते हैं।

आज शाहरुख और गौरी के तीन बच्चे हैं, आर्यन सुहाना और अबराम खान। हालांकि आर्यन से पहले गौरी को बेबी कंसीव करने में कई बार दिक्कतें हुई थी। कई बार उन्हें कंसीव करने के बाद भी मिसकैरेज हो गया था। दोनों कोशिश करते रहे और कई कोशिशों के बाद आर्यन का जन्म हुआ। हालांकि आर्यन के पैदा होने के बाद कई दिनो तक गौरी की तबीयत खराब रही। शाहरुख उन दिनों गौरी की तबीयत को लेकर बहुत ज्यादा परेशान हो गए थे।

आर्यन से अबराम तक सामने आईं कई मुश्किलें

गौरी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वो और शाहरुख चाहते थे कि उनकी पहली संतान बेटी हो, लेकिन आर्यन आ गए। आर्यन के पैदा होने पर शाहरुख और गौरी को बहुत खुशी हुई थी। हालांकि बाद में भगवान ने उनकी मन्नत पूरी और दूसरी संतान उन्हे बेटी हुई सुहाना। सुहाना ने अभी तक बॉलीवुड में एंट्री नहीं की है लेकिन सोशल मीडिया स्टार बन चुकी हैं।

शाहरुख और गौरी का सपना पूरा हो गया था। वो आर्यन और सुहाना के जन्म से खुश थे। हालांकि दोनों के जन्म के 13 साल बाद उन्हें लगा कि एक और बच्चा करना चाहिए। हालांकि उस वक्त तक गौरी 40 की हो चुकी थी। गौरी के लिए कंसीव करना आसान नहीं था और कई मिसकैरेज झेल चुकी गौरी के लिए बेबी कंसीव करना खतरनाक हो सकता था। शाहरुख एक और बच्चा जरुर चाहते थे, लेकिन गौरी की जान के साथ वो कई समझौता नहीं करना चाहते थे। ऐसे में दोनों ने सेरोगेसी का सहारा लिया।

बच्चों में बसती हैं शाहरुख-गौरी की जान

शाहरुख और गौरी के तीसरे बेटे अबराम का जन्म सेरोगेसी के जरिए हुआ और वो प्रेग्नेंसी के 34वें हफ्ते में पैदा हो गए थे। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो जन्म के समय अबराम सिर्फ 1.5 किलो के थे। तबीयत खराब होने के चलते उन्हें कई दिनो तक अस्पताल में रहना पड़ा था। हालांकि अब खान परिवार में सबकुछ ठीक है। शाहरुख और गौरी के तीनों बच्चे स्वस्थ हैं और अपने बच्चों को देखकर शाहरुख और गौरी भी बहुत खुश रहते हैं।

बता दें कि शाहरुख अपने तीनों बच्चों के लेकर काफी पॉजेसिव हैं। वो अपने दोनों बेटों से तो बेहद प्यार करते ही हैं, सुहाना को लेकर वो काफी प्रोटेक्टिव हैं। यहां तक की उन्होंने सुहाना के डेटिंग को लेकर भी कई तरह के नियम बनाए रखें हैं और जो उन्हें फॉलो करेगा वही सुहाना को डेट कर पाएगा।वहीं गौरी भी अपने तीनों बच्चों पर जान झिड़कती हैं और उनका पूरा ख्याल रखती हैं। बता दें कि सुहाना बहुत जल्द बॉलीवुड में डेब्यू करने वाली हैं और इसके लिए शाहरुख भी काफी एक्साइटेड हैं।

Back to top button