ब्रेकिंग न्यूज़

बड़ा खुलासा : दिशा के शव पर नहीं थे कपड़े, प्राइवेट पार्ट्स पर थे चोंट के निशान – PM रिपोर्ट

सुशांत सिंह राजपूत का केस जो कुछ दिनों से उलझा हुआ दिखा दे रहा था, अब वो सुलझता हुआ दिखाई दे रहा है। केस में जब से बिहार पुलिस ने दखल दी है तब से इस केस की दिशा और दशा दोनों ही बदल गयी है। अब सुशांत के केस को उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियान की आत्महत्या से जोड़ कर देखा जा रहा है, हालांकि मुम्बई पुलिस इन दोनों आत्महत्या में संबंध की बातों को नकार चुकी है। यही नहीं मुम्बई पुलिस दिशा केस की फाइल तक डिलीट कर दी है। जिससे मुम्बई पुलिस की विश्वसनीयता सवालों के घेरे में आ चुकी है।

इसी बीच एक और बड़ा खुलासा सामने आ रहा है। रिपब्लिक भारत के हाथों एक रिपोर्ट लगी है जिसके अनुसार कहा जा रहा है कि दिशा के शव पर कपड़े नहीं थे, और उनके प्राईवेट्स पार्ट में भी चोंट के निशान पाए गए हैं। हालांकि पोस्टमार्टम पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि पोस्टमार्टम करने में दो दिन का समय कैसे लगा?? इसके साथ ही सिर्फ एक घंटे में पोस्टमार्टम कंप्लीट हो सकता है ?

बता दें दिशा सालियान की मौत 8 जून की रात 2 बजे हुई थी। जबकि उनका पोस्टमार्टम 11 जून को किया गया था। इससे ये सवाल उठ रहा है कि दिशा का पोस्टमार्टम दो दिन बाद क्यों किया गया? उनका यह पोस्टमार्टम बोरीवली के पोस्टमार्टम सेंटर मे हुआ है। जिसमें ये सामने आया है कि उनकी मौत सिर में चोट लगने और कुछ अप्राकृतिक चोटों की वजह से हुई है।

दिशा की मौत को लेकर कुछ समय पहले बीजेपी के सांसद नारायण राणे (Narayan Rane) ने आरोप लगाया था कि दिशा के साथ पहले रेप हुआ है उसके बाद उनकी हत्या की गई है। उन्होंने ऑटोप्सी रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा था कि दिशा के जननांगों पर चोट के निशान हैं। हालांकि पोस्टमार्टम में ऐसी कोई बात नहीं निकली है। लेकिन किसी भी महिला की मौत के बाद उसके जननांगों की रासायनिक जांच की जाती है। ऐसे में दिशा सालियान के भी जननांगों की रासायनिक जांच होना बाकी है।

बता दें कि सोशल मीडिया (Social Media) पर भी इस बात पर जोर दिया जा रहा है कि दिशा सालियान और सुशांत की मौत के बीच कनेक्शन है। इसका कारण यह है कि दोनों की मौत कुछ ही दिनों के अंतराल के बीच हो गई थी। दिशा की मौत जहां 8 जून की रात 2 बजे हुई थी तो वहीं सुशांत की मौत 14 जून को हुई थी। हालांकि अब सुशांत की मौत की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है। ऐसे में लोगों को उम्मीद है कि उनकी मौत का सच जल्द बाहर आएगा।

Back to top button