बॉलीवुड

घुटनों के बीच मुंह छिपा घंटों रोते रहते थे रणबीर कपूर, वजह थी ऋषि कपूर और नीतू सिंह

पति पत्नी के बीच जब हद से ज्यादा लड़ाई झगड़े होते हैं तो उसका सीधा असर बच्चों पर पड़ता है। उनकी लाइफ आम बच्चों की तरह नहीं रह पाती है। वे कमिटमेंट और इमोशन्स को अच्छे से जाहीर नहीं कर पाते हैं। पति पत्नी के बीच का झगड़ा सिर्फ गरीब या मिडिल क्लास तक ही सीमित नहीं रहता है यह बड़े बड़े अमीर लोगों के यहां भी होता है। अब ऋषि कपूर और नीतू सिंह को ही ले लीजिए। इन दोनों की लाइफ में एक समय ऐसा भी आया था जब ये दोनों एक दूसरे के साथ रहना भी पसंद नहीं करते थे। इनके बीच आए दिन लड़ाई झगड़ा होता रहता था। ऐसे में इनका बेटा रणबीर कपूर बीच में पिसता था।

शराब की लत के कारण होते थे झगड़े

ऋषि कपूर और नीतू सिंह की लव स्टोरी की शुरुआत बहुत प्यार से हुई थी। हालांकि बाद में ऋषि कपूर को शराब की लत लग गई थी। इससे उनकी शादीशुदा ज़िंदगी में कलह पैदा हो गया। आलम ये था कि नीतू उन्हें छोड़ अलग रहने लगी थी। पैसे कमाने के लिए उन्होने अपना खुद का एक हेयर सैलून भी खोल लिया था। हालांकि बाद में दोनों ने अपने झगड़ों को सुलझा लिया। इसके बाद दोनों में फिर से वही प्यार और मोहब्बत देखी जाने लगी। खासकर ऋषि कपूर को कैंसर हो जाने के बाद नीतू उनका एक बच्चे की तरह ख्याल रखती थी।

ऋषि नीतू के झगड़े में रणबीर हुए थे परेशान

ऋषि – नीतू के झगड़े ने रणबीर की लाइफ पर गहरा असर डाला। तब वे छोटे हुआ करते थे। एक बार रणबीर ने इंटरव्यू में बताया था कि ‘जब भी मॉम डैड लड़ते थे तो मैं सीढ़ीयों के नीचे छिपकर बैठ जाया करता था। मैं अपना मुंह घुटनों के बीच छिपा घंटो रोता रहता था। भगवान से बस यही प्रार्थना करता था कि मेरे माता पिता का झगड़ा जल्दी खत्म हो जाए। कभी कभी वे लोग सुबह के 5-6 बजे तक लड़ते ही रहते थे।’

नहीं थे पापा के करीब

ऋषि कपूर गुस्सैल स्वभाव के थे। ऊपर से उनकी शराब की लत उन्हें और भी गुस्सा दिला देती थी। ऐसे में रणबीर कभी अपने पापा से इतने ज्यादा अटैच नहीं हो पाए जितना वे अपनी मम्मी से हैं। नीतू सिंह ने एक बार इंटरव्यू में बातया था कि ‘आप ऋषि रणबीर को एक कमरे में अकेला छोड़ दीजिए। वे दोनों घंटों बात नहीं करेंगे। फिर जब मैं कमरे में आती हूं तब दोनों बातचीत करना शुरू करते हैं।’ हालांकि जब ऋषि कपूर को कैंसर हुआ था तो रणबीर ने उनका पूरा साथ दिया था। उनके निधन पर भी रणबीर बहुत भावुक हो गए थे।

तो आप ने देखा कि कैसे माता पिता का झगड़ा बच्चे के दिमाग पर बुरा असर डालता है। रणबीर ने एक बार यह भी बताया था कि पेरेंट्स को लड़ता देखने के बाद उनका रिश्तों को लेकर नजरिया भी बदल गया था। वे इसके अच्छे पक्ष की बजाए बुरे पक्ष से ज्यादा रूबरू हुए थे। शायद यही वजह है कि उनके लाइफ में ज्यादा ब्रेकअप्स भी हुए हैं। यदि आप लोग भी आपस में अधिक लड़ते झगड़ते हैं तो एक बार रुककर अपने बच्चे के बारे में जरूर सोच लीजिएगा।

Show More
Back to top button