ब्रेकिंग न्यूज़

इस बार अलग होगा स्वतंत्रता दिवस समारोह, नहीं बुलाए जाएंगे ये लोग, किए गए ये परिवर्तन

इस वर्ष कोरोना वायरस के कारण स्वतंत्रता दिवस समारोह को लाल किले पर सादगी के साथ ही मनाया जाएगा। कोरोना महामारी के कारण ये पहला ऐसा स्वतंत्रता दिवस होगा जिसमें कम लोगों को ही बुलाया गया हैं और बच्चों को शामिल नहीं किया गया है। साथ में ही इस बार केवल 20% वीवीआईपी ही लाल किले पर आकर पीएम मोदी का भाषण सुन सकेंगे।

हर साल स्वतंत्रता दिवस को धूमधाम से मनाया जाता है और इस दौरान कई स्कूलों के बच्चों को लाल किले पर आकर प्रधानमंत्री का भाषाण सुनने का मौका मिलता हैं। लेकिन इस बार कोरोना के कारण स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम को लेकर कई सारे बदलाव करने पड़े हैं। बताया जा रहा है कि इस बार केवल 100 वीवीआईपी शामिल होंगे और कोरोना विनर को कार्यक्रम में बुलाया जाएगा।

किया था लाल किले का दौरा

रक्षा सचिव अजय कुमार और एएसआई डाइरेक्टर-जनरल ने पिछले हफ्ते ही लाल किले का दौरा किया था और यहां पर स्वतंत्रता दिवस की तैयारियों का जायजा लिया था। इस बार स्वतंत्रता दिवस में सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए व्यवस्था की जा रही हैं और कुर्सियों को दूरी पर लगाया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक, इस बार समारोह में बच्चे शामिल नहीं होगें। इसके साथ ही नेशनल कैडेट कॉर्प्स के कैडेट को भी समारोह में नहीं बुलाया जाएगा।

इस बार वीवीआईपी की संख्या भी काफी कम रखी गई है। पहले करीब 2000 के करीब वीवीआईपी आते थे जो कि अब महज 100 ही होंगे। साथ में ही इस वर्ष वीवीआईपी लोगों को लाल किले में लोअर लेवल पर ही बैठना होगा।

हाल ही में हुई थी बैठक

पहले स्वतंत्रता दिवस समारोह पर प्रधानमंत्री मोदी का भाषण सुनने के लिए कम से कम 10,000 लोग शामिल होते थे। लेकिन इस बार कम से कम लोग ही लाल किला आएंगे। हाल ही में रक्षा मंत्रालय में स्वतंत्रता दिवस समारोह को लेकर एक बैठक की गई थी। जिसमें ये फैसला लिया गया था कि इस बार कोरोना विनर्स को स्वतंत्रता दिवस समारोह में बुलाया जाए और वीवीआईपी की संख्या कम की जाए।

1500 कोरोना विनर शामिल होंगे

जिन लोगों ने कोरोना वायरस पर विजय पाई हैं। उनको इस समारोह का हिस्सा बनाया गया है। इस बार स्वतंत्रता दिवस केे मौके पर कोरोना महामारी पर विजय पाने वाले 1500 कोरोना विनरों को शामिल किया जाएगा। इनमें से 500 लोकल पुलिसकर्मी होंगे और बाकी 1000 लोग देश के अलग-अलग हिस्सों से आएंगे।

गौरतलब है कि 15 अगस्त के दिन ही हमारे देश को अंग्रेजी हुकूमत से आजादी मिली थी। हर साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश के पीएम देश वासियों को संबोधित करते हैं और लाल किले पर तिरंगा लहराते हैं।

किया जाता है विशेष कार्यक्रमों का आयोजन

इस विशेष दिन पर देश के हर कोने में तिरंगा लहराया जाता है और विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। लेकिन इस बार कोरोना की वजह से स्वतंत्रता दिवस समारोह कार्यक्रमों का आयोजन नहीं किया जाएगा।

Back to top button