बॉलीवुड

क्या अगली फिल्म में विकास दुबे का रोल निभाने जा रहे हैं मनोज बाजपेयी? एक्टर ने बताई सच्चाई

विकास दुबे का एनकाउंटर किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है ऐसे में इस घटना पर फिल्म या वेब सीरिज बनने की खबर अनोखी बात नहीं होगी

कानपुर के बिकरु गांव में सीओ समते 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करना वाला गैंगस्टर विकास दुबे शुक्रवार सुबह पुलिस एनकाउंटर में ढेर हो गया। यूपी एसटीएफ की टीम उसे उज्जैन से गिरफ्तार कर कानपुर ले जा रही थी जहां शहर से 17 किमी पहले सचेंडी थाना क्षेत्र के 6:30 बजे काफ़िले की एक गाड़ी पलट गई। इसके बाद उसने मौका देखकर सुरक्षाकर्मी की पिस्टल छीन ली और पुलिस वालों पर हमला करने की कोशिश की। वहीं पुलिस ने जवाबी फायर किया जिसमें उसके सीने पर गोली लगने से मौत हो गई।अब इस सनसनीखेज वारदात को लेकर बॉलीवुड में भी हलचल मच गई है और खबर आ रही है कि मनोज बाजपेयी गैंगस्टर विकास दुबे का रोल अपनी अगली फिल्म में निभा सकते हैं। आपको बताते हैं क्या है खबर की सच्चाई।

क्या विकास का रोल करेंगे मनोज? 

कानपुर हत्याकांड के मास्टरमाइंड विकास दुबे के एनकाउंटर की खबर ने देश में सनसनी फैला दी है। इसके साथ ही इस घटना पर बॉलीवुड से भी प्रतिक्रिया सामने आने लगी है। बॉलीवुड से ये खबर भी आने लगी कि इस घटना पर जल्द ही कोई फिल्म ये वेब सीरिज़ भी बन सकती है। इतना ही नहीं कुछ देर बाद प्रोड्यूसर संदीप कपूर ने मनोज बाजपेयी से इस पूरे मामले पर एक फिल्म तक बनाने की बात कह दी।

 प्रोड्यूसर संदीप ने ट्वीट किया था कि, ‘जो भी आज एनकाउंटर में हुआ वो किसी सिनेमा से कम नहीं है। मनोज बाजपेयी कैसा रहेगा अगर आप अपनी अगली फिल्म में विकास दुबे का किरदार निभाए। आप इस रोल में कमाल कर देंगे’। इस ट्वीट के सामने आते ही मीडिया में खबर आने लगी की इस मुद्दे पर फिल्म बनाने की सोची जा रही है। हालांकि प्रोड्यूसर ने कुछ समय बाद अपना ये ट्वीट डिलीट कर दिया था।

 मनोज बाजपेयी ने बताई सच्चाई

बता दें कि विकास दुबे की एनकाउंटर की पूरी कहानी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है। ऐसे में लोगों ने ट्वीट देखकर इस बात का अंदाजा लगाना शुरु कर दिया कि  मनोज बाजपेयी इस पूरे मामले पर फिल्म बनाने जा रहे हैं। इसके चलते मनोज बाजपेयी ने अपनी चुप्पी तोड़ी और बताया कि ये गलत खबर है। ऐसा कुछ भी नहीं होने वाला। बता दें कि मनोज बाजपेयी ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ जैसी फिल्मों में गैंगस्टर का रोल निभा चुके हैं और ऐसे रोल के लिए वो काफी पसंद भी किए जाते हैं।

बता दें कि 2 जुलाई की रात विकास दुबे को पकड़ने के लिए पुलिस की टीम उसके घर पहुंची थी। वहां विकास और उसके गुर्गों को पहले ही इस हमले की जानकारी मिल गई थी। इसके चलते उसने पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया और सीओ समेत 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। इस घटना के बाद से विकास दुबे अपने गुर्गों के साथ फरार हो गया था।

बीते दिनों में विकास के करीबी रहे प्रभात मिश्रा और अमर दुबे  भी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए।  9 जुलाई को ही उज्जैन के महाकाल मंदिर के बाहर पुलिस ने विकास दुबे को पकड़ लिया। गिरफ्तार करने के बाद दो घंटे से ज्यादा उससे पूछताछ की गई। इसके बाद कानपुर पुलिस और एसटीएफ की टीम उसे कानपुर ले जा रही थी जब रास्ते में गाड़ी पलट गई और मुठभेड़ में विकास दुबे मारा गया।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close