राजनीति

‘हिंदुओं और मुसलमानों का DNA एक’, दोनों साथ मिलकर करेंगे ‘राम मंदिर’ का निर्माण : गिरिराज सिंह

नई दिल्ली केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद गिरिराज सिंह ने आज एक ऐसा बयान दे दिया है जिसपर राजनीतिक घमासन मचना तय है। भाजपा सांसद गिरिराज सिंह ने एक बार फिर राम मंदिर पर टिप्पणी करते हुए विवादित बयान दिया है। गिरिराज सिंह ने कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर जरूर बनेगा। साथ ही उन्होंने यह भी कह दिया कि मुसलमान भी हिंदुओं के ही वंशज हैं, दोनों का डीएनए एक है, इसलिए राम मंदिर दोनों साथ मिलकर बनाएंगे। Giriraj singh comment on ram temple.

Giriraj singh comment on ram temple

हिंदू-मुस्लिम का डीएनए एक, मिलकर बनाएंगे मंदिर –

जब से यूपी में योगी सीएम बने हैं तब से राम मंदिर मुद्दा सुर्खियों में है। सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद तो इसपर लगातार बयानबाजी  चल रही है। इस बीच भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने यह कहकर कि हिंदू और मुसलमानों का डीएनए एक है और दोनों साथ मिलकर राम मंदिर बनाएंगे, एक नया विवाद खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनेगा, क्योंकि मुसलमान भी हमारे ही वंशज हैं। हमारे धर्म अलग-अलग हैं, इबादत अलग-अलग हैं लेकिन हमारे पूर्वज एक हैं।

गिरिराज ने आगे कहा कि राम मंदिर में मुसलमानों की भी आस्था है, इसलिए अपने पूर्वजों की याद में मिलकर हम मंदिर बनाएंगे।  बूचडख़ानों पर लगातार लग रहे बैन पर गिरिराज ने कहा कि यूपी में अवैध बूचडखाने बंद हुए हैं, योगी सरकार ने मीट खाने वालों पर प्रतिबंध नहीं लगाया है, वो अभी भी खा सकते हैं। सौ सालों से गाय के दूध से प्यार नहीं हुआ, लेकिन गाय के मीट से प्यार हो गया।

Sakshi maharaj controversial statement

साक्षी महाराज ने दिया गिरिराज का साथ –

विवादित बयानबाजी के लिए फेमस बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने गिरिराज सिंह के इस विवादित बयान का समर्थन किया है। समर्थन करते हुए साक्षी महाराज ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट भी चाहता है कि हिंदू और मुसलमान दोनों मिलकर राम मंदिर बनाए। हम सब भाई-भाई हैं और हिंदू-मुसलमान राम मंदिर का निर्माण करेंगे।

इधर, राम मंदिर को लेकर बवाल जारी है तो वहीं दूसरी ओर बूचड़खानों पर हो रही कार्रवाई का मुद्दा आज लोकसभा में जोर-शोर से उठा है। असदुद्दीन ओवैसी ने यूपी में बंद हो रही मीट की दुकानों पर सरकार से पूछा कि क्या सरकार भैंस के मीट के एक्सपोर्ट को बढ़ावा देना चाहती या फिर इस पर बैन लगाना चाहती है?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close