गोरखपुर – आदित्यनाथ योगी मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार अपने क्षेत्र गोरखपुर पहुंचे, जहां जनता ने उनका जोरदार स्वागत किया। आज वें गोरखपुर के बीजेपी ऑफिस में पहुंचे और अफसरों को कैसे काम करना है इसका पाठ सिखाया। इसके बाद उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि, जीत जितनी बड़ी होती है, जिम्मेदारियां उतनी ज्यादा होती हैं। हमें अगले 2 साल तक ना गर्मी देखनी है ना सर्दी देखनी है। उन्होंने आगे कहा कि अगर कहीं भी कुछ भी गलत दिखे तो बस मुझे सीधे खबर करें। Yogi adityanath in Gorakhpur.

सबका साथ, सबका विकास है सरकार का मंत्र –

पीएम मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ का संकल्प दोहराते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा सरकार में प्रदेश के हर व्यक्ति को समान अधिकार होंगे, कोई भी स्वंय को उपेक्षित महसूस नहीं करेगा। जात-पात, लिंग, मत और मजहब के आधार पर किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जाएगा।

एंटी रोमियों दल में कुछ खामियों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को भी स्पष्ट निर्देश दिया है कि वे स्वेच्छा से घूमने निकले युवाओं और कहीं बैठे युगल को परेशान न करें। सीएम ने 2019 के लोकसभा का जिक्र करते हुए कहा कि दो साल में ही लोकसभा चुनाव होने हैं। यूपी अब गड्ढा मुक्त, भ्रष्टाचार मुक्त, अंधेरा मुक्त होगा. उत्तर प्रदेश में कानून का राज होगा।

तुलसीदास के लिए अकबर नहीं भगवान राम थे राजा –

योगी आदित्यनाथ ने योगीराज बाबा गंभीरनाथ के शताब्दी पुण्यतिथि कार्यक्रम के समापन में हिस्सा लिया। जहां उन्होंने बाबा गंभीरनाथ पर लिखी किताब योगीराज ‘बाबा गंभीरनाथ पुण्यतिथि शताब्दी वर्ष’ का विमोचन किया। इस कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि तुलसीदास ने ‘राजा रामचंद्र की जय’ का नारा दिया था। तुलसीदासजी अकबर को राजा नहीं मानते थें। उनके अनुसार राजा एक ही है और वो हैं भगवान राम।

गौरतलब है कि, आदित्यनाथ योगी ने कल कैलाश मानसरोवर यात्रा के इच्छुक लोगों को सरकार की ओर से एक लाख रुपए का अनुदान की घोषणा की है। यूपी सरकार इसके लिए गाजियाबाद, नोयडा या लखनऊ में से किसी एक स्थान पर हज के तर्ज पर कैलाश मानसरोवर यात्रा भवन का निर्माण करवायेगी, जिससे जनता को वहां सारी जानकारी एवं सुविधा प्राप्त हो सके।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

error: Content is protected !!