ब्रेकिंग न्यूज़

Tik Tok पर बैन लगते ही इस स्वदेशी ऐप की लग गई लॉट्ररी, 72 घंटे में 5 लाख बार हुआ डाउनलोड

गलवान घाटी में 20 शहीदों की शहादत का बदला लेते हुए भारत सरकार ने चीन को डिजिटल रुप से जोर का झटका दिया है, जिसके बाद पड़ोसी मुल्क बुरी तरह से बौखला गया है। बीती रात भारत सरकार ने चाइना पर डिजिटल स्ट्राइक करते हुए टिक टॉक समेत 59 ऐप्स को बैन करने का बड़ा फैसला लिया, जिससे देश में खुशी की लहर दौड़ गई। इसी बीच टिक टॉक के बैन होते ही एक स्वदेशी कंपनी की किस्मत चमक गई है। जी हां, हम बात कर रहे हैं ऐप ‘चिंगारी’ की, जिसके डाउनलोड अचानक से बढ़ गए।

गलवान में जो चीन की तरफ से धोखेबाजी की गई थी, उसके लिए भारत कूटनीतिक तौर पर उसे एक के बाद झटका दे रहा है, जिसमें से सबसे बड़ा झटका चाइनजी ऐप को बंद करने का है। दरअसल, चाइनीज ऐप बंद होने से चीन को काफी आर्थिक नुकसान होगा, जिसकी बौखलाहट साफ तौर से उसके चेहरे पर देखी जा रही है। बता दें कि जैसे ही बीती रात भारत सरकार की तरफ चाइनीज ऐप बंद करने का बड़ा फैसला लिया गया, वैसे ही देशवासियों में खुशी की लहर दौड़ गई।

स्वदेशी ऐप चिंगारी की चमकी किस्मत

चीनी ऐप टिक टॉक के बैन होते ही भारतीय ऐप चिंगारी की लोकप्रियता बढ़ गई, जिसे बड़े बड़े लोग भी यूज कर रहे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, पिछले 72 घंटे में इस ऐप को लगभग 5 लाख बार डाउनलोड किया गया है। इतना ही नहीं, मजे की बात तो यह है कि आनंद महिंद्रा और केंद्र सरकार के प्रिंसिपल इकनॉमिक एडवाइजर (PEA) संजीव सान्याल जैसे दिग्गज इसे डाउनलोड करने के लिए लोगों को प्रेरित कर रहे हैं।

आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि जब बायकॉट चाइना अभियान जोर पकड़ा था, तो स्वदेशी ऐप ‘Mitron’ भी काफी लोकप्रिय हुआ था। कुल मिलाकर, अब जब चाइनीज ऐप बैन हुए तो जाहिर सी बात है कि स्वदेशी ऐप्स को फायदा मिलेगा और लोग इसे यूज भी करेंगे। बता दें कि चिंगारी ऐप भी टिक टॉक जैसा ही है, लेकिन उसका कंटेंट बिल्कुल अलग है, जिसे आप यूज कर सकते हैं। और बड़ी बात यह है कि यह एक स्वदेशी ऐप है।

भारत का अपना टिक टॉक है ‘चिंगारी’


आनंद महिंद्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘मैंने टिकटॉक कभी डाउनलोड नहीं किया, लेकिन मैंने अभी चिंगारी डाउनलोड किया है, जिसे आप भी डाउनलोड कर सकते हैं और यह भारत का अपना टिक टॉक है। गौरतलब है कि भारत में टिक टॉक भारी मात्रा में यूज किया जाता है, जिसकी वजह से अब लोगों को एक दूसरे प्लेटफॉर्म की ज़रूरत है। ऐसे में उनके लिए चिंगारी से बेहतर कोई और ऑप्शन नहीं है।

इसके अलावा, पीईए संजीव सान्याल ने भी चिंगारी के तारीफ में ट्वीट कर लिखा कि ‘ कभी टिकटॉक से नहीं जुड़ा, लेकिन चिंगारी को डाउनलोड किया है और यह हमारा मजेदार प्लेटफॉर्म है। बता दें कि ज्यादातर दिग्गज अब चिंगारी डाउनलोड करने की सलाह दे रहे हैं।

क्या है चिंगारी ऐप में खासियत?

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस ऐप की शुरुआत बेंगलुरु में सुमित घोस और बिश्वात्मा नायक द्वारा स्थापित स्टार्टअप ने की है, जिसे अब तक लगभग 25 लाख बार डाउनलोड किया जा चुका है। मजे की बात यह है कि यह हिंदी-अंग्रेजी समेत कुल 9 भाषाओं में सुविधा प्रदान करता है। बताया जा रहा है कि  अब दोनों उद्यमी इसे एक सुपर ऐप ‘Bharat’.में बदलने की तैयारी कर रहे हैं, जिसकी स्क्रिप्ट पूरी तरह से लिखी जा चुकी है। याद दिला दें कि यह ऐप साल 2018 से ही प्लेस्टोर में हैं, लेकिन अब इसे ज्यादा पहचान मिलेगी और इससे आत्मनिर्भर भारत मिशन को भी फायदा मिलेगा।

Show More
Back to top button