नई दिल्ली – अगर आपको याद हो तो केजरीवाल ने राजधानी दिल्ली में रेप के मुद्दे पर शीला दीक्षित सरकार में बड़े बड़े वादे किये थे और उन्हें हराकर दिल्ली के सीएम बन बैठे। केजरीवाल के महिला सुरक्षा के सारे वादे उनके हर वादे की तरह ही झुठे साबित हुए। सरकार बनने के बाद से न तो उन्होंने इस मुद्दे पर कभी कुछ कहा न ही इस महिला सुरक्षा के लिए कुछ किया। महिला सुरक्षा के मुद्दे को केजरीवाल डकार गये। ना तो दिल्ली में CCTV कैमरे लगे ना ही कोई विशेष सुरक्षा मिली। केजरीवाल सरकार सिर्फ राशन कार्ड बनाने और अपनी हर कमी का दोष पीएम मोदी पर मढ़ने में ही रह गई। Kejriwal against Anti Romeo.

केजरीवाल को हज़म नहीं हुई एंटी रोमियो स्क्वाड –

एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की एंटी रोमियो स्क्वाड बनाने पर चारो ओर वाहवाही हो रही है, तो वहीं अपनी आदत से मजबुर केजरीवाल का हाज़मा इससे खराब हो गया है। उनके अलावा, मीडिया किसी और की बात करे और वाहवाही करे ये केजरीवाल से न कभी बर्दाश्त हुआ है और न होगा, क्योंकि मीडिया ने ही उनके जैसे नेता को जन्म दिया है।

वैसे भी केजरीवाल को दूसरो की हर बात में दिक्कत होती है, क्योंकि केजरीवाल “न खाता न बही-जो केजरीवाल कहे वो सही” सिद्घांत पे चलते हैं। केजरीवाल के मुताबिक यूपी में आदित्यनाथ हिटलरशाही कर रहे हैं। आम आदमी को राशन कार्ड बनवाने में दिक्कत हो रही है, जो उनका जन्मसिद्ध अधिकार है। केजरीवाल के मुताबिक लड़के अगर लडकियां न छेड़े, उनपर फब्तियां न कसे तो फिर उनके लड़के होने का क्या फायदा।

Kejriwal against Anti Romeo

केजरीवाल का सामूहिक लड़की छेड़ो कार्यक्रम –

केजरीवाल के मुताबिक लड़कियां छेड़ने के 2 फायदे है। पहला तो इससे लड़के व लड़की दोनों का एंटरटेनमेंट होता है, लड़कियों के मेकअप का खर्च बचता है। लड़की छेड़ने से लड़कों का दिमाग से पढ़ाई का बोझ कुछ समय के लिए कम होता है और वो रिलेक्स महसूस करते है। केजरीवाल के मुताबिक लड़की छेड़ने का दूसरा फायदा यह है कि इससे रेप की घटनाएं बढ़ेगी जिससे कोई आम आदमी लोगों को मुर्ख बनाकर किसी राज्य का सीएम बन सकता है। रेप का मुद्दे पर राजनिती कर ही सत्ता हथियायी जा सकती है।

इसलिए, केजरीवाल के मुताबिक छेड़छाड़ से समाज को ही फायदा है। इसलिए, यूपी में जिन लड़को को लडकियों को छेड़ने नहीं दिया जा रहा उनके लिए केजरावाल दिल्ली में सामूहिक लड़की छेड़ो कार्यक्रम आयोजित करेंगे। जिसमें लड़के जी भर के लडकियां छेड़ सकेंगे। यहां आपको बता दें कि इस कार्यक्रम का संचालक लड़कियों के राशन कार्ड बनवाने के एक्सपर्ट संदीप कुमार जी होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.