ब्रेकिंग न्यूज़

भारत ने किये यह 59 Chinese Apps बैन, TikTok पहले नंबर पर, जानें कैसे लागू होगा बैन

यह एप्स भारत की सुरक्षा और सम्प्रभुता के लिए खतरा है, कम्युनिस चीन के इस कबाड़ को अपने फ़ोन से निकाल फेंके

भारत और चीनी सैनिकों के बीच गलवान घाटी में हुई झड़प में भारतीय जवानों की शहादत के बाद से चीन के खिलाफ देशभर में आक्रोश देखने को मिल रहा है। इससे पहले आगाह किया गया था कि TikTok समेत अधिकतर चाइनीज एप्स भारतीयों की प्राइवेसी के साथ देश की सुरक्षा के लिए भी खतरा बन रहे हैं। ऐसे 52 चाइनीज एप्स पर प्रतिबंध लगाने की सिफारिश खुफिया एजेंसियों की ओर से की गई थी, जिनसे भारत को खतरा था।

इस सुझाव पर अमल करते हुए भारत सरकार की ओर से 59 चाइनीज एप्स को भारत में बैन कर दिया गया है, जिसमें पहले नंबर पर देश में काफी पाॅपुलर हो चुका टिकटाॅक भी शामिल है। बता दें, सरकार को पहले से ही इस बात की जानकारी कई स्रोतों के माध्यम से प्राप्त हो रही थी कि ये एप्स न केवल आईफोन और एंड्राॅयड दोनों यूजर्स के डाटा को चोरी कर रहे हैं, बल्कि इनके सर्वर जो भारत के बाहर स्थित हैं, वहां ये इन डाटा को भेज भी रहे हैं।

ये Chinese Apps हुए बैन

जिन 59 चाइनीज एप्स को भारत सरकार की ओर से प्रतिबंधित किया गया है, उनमें टिकटॉक (TikTok), शेयर इट (Shareit), केवई (Kwai), यूसी ब्राउजर (UC Browser), बैडू मैप (Baidu map), शीईन (Shein), क्लैश ऑफ किंग (Clash of Kings), डीयू बैटरी सेवर (DU battery saver), हेलो (Helo), लाइक (Likee), यूकैम मेकअप ( YouCam makeup), एमआई कम्युनिटी ( Mi Community), सीएम ब्राउजर (CM Browers), वायरस क्लीनर (Virus Cleaner), एपीयूएस ब्राउजर (APUS Browser), रोमवी (ROMWE), क्लब फैक्ट्री (Club Factory), न्यूज डॉग (Newsdog), ब्यूटी प्लस (Beutry Plus), वीचैट (WeChat), यूसी न्यूज (UC News), क्यू क्यू मेल (QQ Mail), वीबो (Weibo), ज़ेडर (Xender), क्यू क्यू म्यूजिक (QQ Music), क्यू क्यू न्यूजफीड (QQ Newsfeed), बीगो लाइव (Bigo Live), सेल्फी सिटी (SelfieCity), मेल मास्टर (Mail Master), पैरलर स्पेस (Parallel Space), एमआई वीडियो कॉल-शियॉमी (Mi Video Call – Xiaomi) और डीयू प्राइवेसी ( DU Privacy) शामिल हैं।

इन्हें भी किया गया बंद

इनके अलावा वीसाइन (WeSync), ईएस फाइल एक्सप्लोरर (ES File Explorer), वीवा वीडियो (Viva Video), मीईटू (Meitu), वीगो वीडियो ( Vigo Video), न्यू वीडियो स्टेटस (New Video Status), डीयू रिकॉर्डर (DU Recorder), वॉलट हाइड (Vault- Hide), कैचे क्लीयर डीयू ऐप स्टूडियो (Cache Cleaner DU App studio), डीयू क्लीनर (DU Cleaner), डीयू ब्राउजर (DU Browser), हैगो प्ले विद न्यू फ्रेंड्स (Hago Play With New Friends), कैम स्कैनर (Cam Scanner), क्लीन मास्टर चीता मोबाइल (Clean Master – Cheetah Mobile), वंडर कैमरा (Wonder Camera), फोटो वंडर (Photo Wonder), क्यू क्यू प्लेयर (QQ Player), वी मीट (We Meet), स्वीट सेल्फी (Sweet Selfie), बैडू ट्रांसलेट (Baidu Translate), वी मेट (Vmate), क्यू क्यू इंटरनेशनल (QQ International), क्यू क्यू सिक्योरिटी सेंटर (QQ Security Center), क्यू क्यू लॉन्चर (QQ Launcher), यू वीडियो (U Video), वी फ्लाई स्टेटस वीडियो ( V fly Status Video) और मोबाइल लिजेंड्स (Mobile Legends) को भी बैन कर दिया गया है।

भारत सरकार ने 59 Chinese Apps पर प्रतिबंध 2000 की धारा 69ए के अंतर्गत लगाया गया है, जिसके मुताबिक सरकार की ओर से किसी भी कंप्यूटर रिसोर्स से कोई भी सार्वजनिक जानकारी प्राप्त करने को ब्लॉक किया जा सकता है।

कैसे लागू होगा बैन?

संभव है कि इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स को सरकार की ओर से बैन किये गई एप्स को ब्लॉक करने का निर्देश जारी किया जाए। तब यूजर्स के पास सरकार की अपील पर एप्स को बैन करने का मैसेज आ सकता है। टिकटॉक और यूसी ब्राउजर जैसे एप्स जिन फोन्स में पहले से हैं, वहां ये इस्तेमाल में आते रहेंगे, मगर इन एप्स को डाउनलोड या अपडेट अब नहीं किया जा सकेगा। गूगल प्ले स्टोर और एप्पल एप स्टोर पर भी इन्हें ब्लॉक किये जाने की संभावना है।

पढ़ें चाइना मे इस तरह से फैला ‘कोरोना वायरस’ और पूरी दुनियां के लिए बना ख़तरा, अपने ही जाल में फंसा चीन

यह भी पढ़ें शिकार समझकर प्लास्टिक का बोतल निगल गया कोबरा, फिर जो हुआ देख दंग रह जाएंगे, वायरल हो रहा विडियो

Show More

Related Articles

Back to top button
Close