विशेष

बारात आते ही बिगड़ी दुल्हन की तबीयत, रातभर इंतजार करता रह गया दूल्हा, सुबह फूट-फूट रोने लगा

जिस तरह से एक लड़की अपनी शादी के सपने सजाती है, ठीक वैसे ही लड़का भी इसे लेकर बड़ा उत्साहित होता है. ऐसा ही एक सपना कानपूर जिले में रहने वाले एक लड़के ने सजाया था. शादी का दिन आ गया, सारी तैयारिया भी अच्छे से हो गई. दूल्हा बैंडबाजे से बरात लेकर लड़कीवालों के घर भी जा पहुंचा. अब द्वार पूजा शुरू हो गई. लेकिन तभी दुल्हन की तबीयत अचानक बिगड़ गई. उसे हॉस्पिटल ले जाना पड़ा. दुल्हन के ठीक होने के इंतज़ार में दुल्हा रातभर जागता रहा, लेकिन फिर एक ऐसी खबर आई कि दूल्हा फूट-फूट रोने लगा. आइए इस खबर को विस्तार में जानते हैं.

शादी को लेकर खुश था दुल्हा


उत्तर प्रदेश के ठठिया थाना क्षेत्र के गांव भगतपुरवा में रहने वाले राजकिशोर बाथम ने हाल ही में अपनी प्यारी बेटी विनीता (19) की शादी तय की थी. यह शादी शुक्रवार को कानपुर के रसूलाबाद थाना क्षेत्र के गांव अमरूहिया में रहने वाले संतोष के बेटे संजय से होना थी. शादी को लेकर दूल्हा और उसके परिवार वाले बड़े खुश थे.

अचानक बिगड़ी दुल्हन की तबीयत

दूल्हा तय तारीख को अपनी बारात लेकर अमरूहिया से भगतपुरवा आ गया. यहां करीब रात आठ बजे बैंडबाजा के साथ बारात लड़की वालो के घर पहुंची. फिर दुल्हे का स्वागत हुआ और द्वार पूजा की तैयारी होने लगी. लेकिन तभी दुल्हन की अचानक से तबीयत खराब हो गई. ऐसे में दूल्हा उसे अपनी गाड़ी से मेडिकल कॉलेज गया. यहां के डॉक्टरों ने दुल्हन को कानपुर रेफर कर किया. हालाँकि कानपूर के डॉक्टर्स ने कहा कि दुल्हन के बचने की अब कोई उम्मीद नहीं है. इसलिए उसे घर भेज दिया गया.

दूल्हा रातभर करता रहा इंतजार

कानपूर के हॉस्पिटल की सलाह मान लड़की वाले दुल्हन को रात करीब 2 बजे अपने घर ले आए. दूल्हा और बाराती भी उनके साथ वहां आ गए. वे सभी वहीं दुल्हन की हालात बेहतर होने की प्रार्थना करने लगे. लेकिन शायद ऊपर वाले को कुछ और ही मंजूर था. दुल्हन ने रात 3 बजे दम तोड़ दिया. अपनी होने वाली पत्नी की मौत की खबर सुन दूल्हा सदमे में आ गया. वो फूट फूर कर रोने लगा. परिजनों ने उसे जैसे तैसे संभाला.

इस बिमारी से जूझ रही थी दुल्हन

दुल्हन की मौत के बाद थाना प्रभारी विजय बहादुर वर्मा और उप निरीक्षक शैलेंद्र कुमार को इसकी सूचन प्राप्त हुई. उन्होंने पहले परिवार से सारी जानकारी ली और फिर दुल्हन का शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया. रिपोर्ट में पता चला कि दुल्हन के फेफड़ों में संक्रमण था. इसी वजह से उसकी मौत हुई है. बताया जा रहा है कि दुल्हन फेफड़ों की बीमारी से पिछले 6 महीनो से पीड़ित थी.

गौरतलब है कि अभी तक देशभर में लॉकडाउन था, जिसकी वजह से अधिक धूमधाम से शादी की अनुमति नहीं थी. लेकिन अनलॉक 1.0 के बाद शादी को लेकर कई तरह की छूट दी जाने लगी. खासकर ग्रीन जोन में ज्यादा छूट मिली. लेकिन अफसोस की यह शादी जल्द ही मातम और दुख में बदल गई. हम भगवान से प्रार्थना करते हैं कि वे दुल्हन विनीता की आत्मा को शान्ति दें.

Show More

Related Articles

Back to top button
Close