इस मुस्लिम परिवार ने पेश की सौहार्द की अनूठी मिसाल, निकाह के कार्ड पर छपवाया-श्री गणेशाय नम:

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में धार्मिक सौहार्द का एक अनूठा रूप देखने को मिला है. बलिया के रहने वाले एक युवक ने अपनी शादी के लिए एक ऐसा अनोखा कार्ड छपवाया है, जिसके कारण वो आजकल मीडिया की सुर्खियां बटोर रहा है. धार्मिक सौहार्द और एकता की बेहतरीन मिसाल पेश करते हुए पिंडारी के रहने वाले सिराजुद्दीन ने शादी का जो कार्ड छपवाया है, वो बिल्कुल हिंदू धर्म की सभ्यता और परंपरा के अनुकूल है.

धार्मिक सौहार्द की अनोखी मिसाल:

बताया जा रहा है कि सिराजुद्दीन के निकाह का जो कार्ड गांव में बांटा गया है, उस कार्ड पर हिंदुओं के प्रथम पूज्य भगवान श्रीगणेश को स्थान देते हुए श्री गणेशाय नम: लिखा गया है. कार्ड पर हिंदू धर्म के शुभ चिन्ह जैसे कलश और स्वास्तिक बने हुए हैं. साथ ही मंगलम् भगवान विष्णु शब्द भी अंकित हैं.

मुस्लिम के कार्ड पर भगवान गणेश :

पिंडारी गांव हिंदू-मुस्लिम की मिली-जुली आबादी वाला गांव है. बताया जा रहा है कि सिराजुद्दीन का निकाह रिजवाना के साथ मुस्लिम रीति-रिवाज के साथ हुआ. शादी बड़े धूम-धाम से हुई. मगर आकर्षण का केंद्र वो कार्ड था, जिसने दोनों समुदाय के लोगों का दिल जीत लिया.

इस मुस्लिम परिवार ने जीत लिया सबका दिल:

दूल्हा सिराजुद्दीन के बड़े भाई के मुताबिक, “इसमें गलत क्या है? हमने अपने हिंदू मित्रों की सुविधा के लिए ऐसे कार्ड दिए हैं. इसमें कुछ नया नहीं है. हमलोग मिल-जुलकर शादी और त्योहार मनाते हैं. हम गांव के सीधे-सादे लोग हैं। हम सिर्फ प्यार और भाईचारे की भाषा जानते हैं. जब हमारे गांव में प्रिंटेड कार्ड का फैशन नहीं था, तब हम कागज पर हाथ से लिखकर न्योता भेजते थे और उस पर हल्दी भी छिड़कते थे.”

हल्दी छिड़कना शुभ माना जाता है:

गौरतलब है कि हिंदू धर्म के अनुसार हल्दी छिड़काना शुभ माना जाता है. इस कार्ड और शादी की चर्चा चारों ओर हो रही है. इस घटना ने धर्म और जाति से ऊपर उठकर सौहार्द की मिसाल पेश की है और देश को एक सकारात्मक दिशा देने की कोशिश की है.

एक तरफ, जहां राजनेता अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने के चक्कर में हिंदू-मुस्लिम में मार-काट करवा देते हैं, दंगे भड़का देते हैं, वहीं उन नेताओं और ऐसे लोगों के मुंह पर यह घटना किसी तमाचे से कम नहीं है. इस परिवार ने भारत के गांव में धार्मिक सौहार्द की जो मिसाल पेश की है, वो हमारी ग्रामीण संस्कृति की झलक दिखाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.