नई दिल्ली – आपको याद होगी कि इस बार के विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार के दौरान एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि, प्रदेश में ईद पर तो बिजली मिलती है, लेकिन होली पर नहीं। अखिलेश सरकार जनता से भेदभाव करती है। पीएम मोदी कि यह बात वास्तव में एक कड़वी सच्चाई है जिसे यूपी का रहने वाला ही समझ सकता है। लेकिन, अब प्रदेश में बीजेपी की सरकार है और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं। तो ऐसे में सीएम योगी ने प्रदेश की जनता को नवरात्री पर नौ दिन 24 घंटे बिजली देने का ऐलान किया है। Up get 24 hour electricity.

योगी सरकार का आदेश, नवरात्रि में यूपी को 24 घंटे बिजली –

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बिजली विभाग के अधिकारियों को आज निर्देश दिया है कि नवरात्रि के दौरान बलरामपुर, मिर्जापुर, अयोध्या, काशी, मथुरा और गोरखपुर जैसे धार्मिक शहरों में 24 घंटे बिजली दी जाए। राज्य के बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा ने विभाग के अधिकारियों के साथ पहली बैठक में निर्देश दिया कि, ‘‘नवरात्रि के दौरान मिर्जापुर और बलरामपुर जैसे जिलों के साथ-साथ काशी, मथुरा, अयोध्या और गोरखपुर जैसे शहरों में 24 घंटे बिजली आपूर्ति होनी चाहिए।’’

आपको बता दें कि, विधानसभा चुनावों से पहले योगी आदित्यनाथ ने एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कहा था कि सूबे में बांटने और तुष्टिकरण का काम सपा-कांग्रेस और बसपा कर रही हैं, बीजेपी नहीं। उन्होंने यह भी कहा था कि चुनाव में विकास के मुद्दे पर बीजेपी की सरकार बनेगी जो सच साबित हुई।

Yogi adityanath bans in up

 आज भी एक्शन मोड में रहे सीएम योगी –

योगी सरकार भाजपा के चुनावी घोषणापत्र में दी गयी सरकार की प्राथमिकताओं के अनुरूप योजनाओं के कार्यान्वयन का रोडमैप तैयार करने में जुटी हुई है। प्रदेश में किसानों का कर्ज माफ करने के वादे के लिए भी रोडमैप तैयार किया जा रहा है। वहीं आज भी सीएम योगी एक्शन मोड में रहे। यूपी में योगी आदित्‍य नाथ की सरकार बनने के बाद से अब तक, 100 से ज्‍यादा पुलिसकर्मियों को सस्‍पेंड किया जा चुका है।

आज यूपी के रायबरेली से लखनऊ आ रही गैंगरेप पीड़िता पर ट्रेन में कुछ लोगों ने एसिड अटैक किया और उसे एसिड पिला दिया। जिसके बाद उसे लखनऊ के केजीएमयू अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज सुबह अस्पताल का दौरा किया और पीड़िता से मुलाकात की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.