विशेष

भूख से रो रहा था नवजात, रोते बिलखते बच्चे के साथ नर्स ने जो किया देख कर यकीन नहीं होगा

कोरोना वायरस जैसी महामारी की वजह से लोगों को कई दिक्कतों से गुजरना पड़ रहा है, कोरोना काल में सभी पुलिसकर्मी, डॉक्टर्स अपना फर्ज पूरी ईमानदारी से निभा रहे हैं, अगर हम स्वास्थ्य कर्मियों की बात करें तो इनका कार्य प्रशंसा लायक है, यह अपने घर परिवार से दूर रहकर कोरोना पीड़ितों की दिन-रात सेवा कर रहे हैं, कोरोना काल में स्वास्थ्य कर्मियों के काम की जितनी तारीफ की जाए उतनी ही कम है, आपको बता दें कि एक ऐसा मामला पश्चिम बंगाल के कोलकाता से आया है, जहां पर एक अस्पताल में एक बच्चे को उसकी मां दूध नहीं पिला पाई तो उस अस्पताल में तैनात एक नर्स ने उस भूखे बच्चे को अपना दूध पिलाया।

खबरों के अनुसार ऐसा बताया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल के कोलकाता के आरजी कर मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल के लेबर पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड में एक नर्स जिनका नाम उमा अधिकारी है वह तैनात थी, उमा अधिकारी ने मानवता की नई मिसाल पेश की है, दरअसल, हाल ही में इस हॉस्पिटल में एक महिला भर्ती थी, हाल ही में वह मां बनी थी, वह अपने नवजात बच्चे को दूध नहीं पिला सकती थी तो उमा ने उस बच्चे को अपना दूध पिलाया था।

उमा अधिकारी का ऐसा बताना है कि नवजात बच्चे की मां कोरोना वायरस पीड़ित थी और यह सी-सेक्शन से गुजर रही थी, इनकी तबीयत भी ठीक नहीं थी और यह इस अवस्था में नहीं थी कि यह बच्चे को दूध पिला पाए, बच्चा भूख से रो रहा था, भूख से तड़पते हुए बच्चे को वह देख नहीं पायी और उन्होंने बिना किसी डर के उस नवजात शिशु को अपना दूध पिलाकर उसका ख्याल रखा, उमा अधिकारी का ऐसा कहना था कि कोरोना वायरस के डर के कारण अस्पताल में कोई भी उस बच्चे को दूध पिलाने को तैयार नहीं हुआ था, रात भी बहुत अधिक हो गई थी और बच्चा भूख के मारे जोर-जोर से रो रहा था, नवजात बच्चे को भूख से रोता हुआ देख वह अपने आपको नहीं रोक पायीं और उन्होंने कोरोना वायरस के डर के बिना ही इस बच्चे को स्तनपान कराया।

रिपोर्ट के अनुसार ऐसा बताया जा रहा है कि जब उमा अधिकारी उस नवजात बच्चे को दूध पिला रही थी तब उसी दौरान उनके पति ने उनको फोन किया था, उनका एक 8 महीने का मासूम बेटा भी है, जो अपनी मां को वीडियो कॉल पर देखे बिना नहीं सोता था, परंतु उमा ने फोन नहीं उठाया था उन्होंने मैसेज के माध्यम से अपने पति को यह जानकारी दी थी कि वह एक बच्चे को अपना दूध पिला रही है, जब उनके पति को यह पता चला कि वह किसी बच्चे को स्तनपान करा रही है तो वह काफी चिंतित हो गए थे क्योंकि उमा को अगली सुबह ही अपने बेटे को भी स्तनपान करवाना कराना था।

आपको बता दें कि देश भर में ऐसे बहुत से मामले सामने आ चुके हैं जिसमें महिलाएं गर्भवती हैं और वह कोरोना वायरस के संक्रमण का शिकार हो चुकी है, इसी दौरान बच्चे के भी होने की रिपोर्ट सामने आई है, ऐसी स्थिति में लोगों के मन में काफी डर बना हुआ है, नई-नई मां बनी अन्य महिलाओं में यह डर बिना किसी वजह के नहीं था, सभी प्रमुख अस्पतालों में कोरोना वायरस का खतरा बना हुआ है, जिन अस्पतालों में गर्भवती महिलाएं कोरोना वायरस संक्रमित पाई गई है उनमें आरजी का अस्पताल भी आता है।

Back to top button
?>