राजनीति

यूपी में योगी का एक्शन शुरू! गाजियाबाद में पुलिस ने बंद कराए 15 अवैध बूचड़खाने

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री पद का कार्यभार संभालने के बाद से ही सरकार एक्शन में दिख रही है. योगी के मुख्यमंत्री बनते ही ऐसा लग रहा है कि बुचड़खानों पर गाज गिरने लगी है. एक खबर के मुताबिक, बताया जा रहा है कि मंगलवार को पुलिस ने गाजियाबाद में अवैध रूप से चल रहे 15 बूचड़खानों को बंद कराया. बताया ये भी जा रहा है कि ये सभी बूचड़खाने गाजियाबाद के केला भट्टा इलाके में अवैध रूप से चल रहे थे. बूचड़खाने बंद कराने के दौरान मौके पर बड़ी मात्रा में पुलिस बलों को तैनात किया गया था. बताया जा रहा है कि ये बूचड़खाने बिना लाइसेंस के चल रहे थे. इससे पहले सोमवार को इलाहाबाद में भी दो बूचड़खाने बंद करवाये गये थे.

योगी के एक्शन का दिख रहा है असर:

सूत्रों की मानें तो ये सभी बूचड़खाने बिना लाइसेंस के चलाये जा रहे थे. योगी के सत्ता में आते ही बूचड़खानों पर गाज गिरने का सिलसिला जारी है. इससे पहले सोमवार को इलाहाबाद में भी दो बूचड़खाने को बंद कराये गये थे. इसके अलावा लखीमपुर खीरी में भी एक बूचड़खाने को बंद किया गया. साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी बूचड़खाने पर कार्रवाई की गई.

बूचड़खानों पर गिर रही है गाज:

एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के कागजातों में कुल 126 बूचड़खानों का ब्यौरा है. मगर सूत्र बताते हैं कि यूपी में इससे कई गुना अधिक बूचड़खाने बिना किसी परमिट के चलाए जा रहे हैं. साथ ही जो 126 बूचड़खाने चल भी रहे हैं, तो उनमें से अधिकांश मानकों का पालन नहीं कर रहे. उनके पास ट्रीटमेंट प्लांट भी नहीं है.

आपको बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान ही योगी आदित्यनाथ ने बूचड़खानों का मुद्दा उठाया था. मुख्यमंत्री ने तब कहा था कि बीजेपी की सरकार सत्ता में आने के बाद अवैध बूचड़खानों को बंद किया जाएगा.

चुनाव प्रचार में योगी ने बूचड़खानों को बंद करने की बात की थी:

ऐसा माना जा रहा है कि योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद बूचड़खाना संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है. इसके अलावा केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी ने उत्तर प्रदेश के लिए अपने घोषणापत्र में सरकार बनने पर सूबे के सभी बूचड़खानों को बंद कराने की बात कही थी.

आपको बता दें कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी चुनाव के दौरान अक्सर बूचड़खानों को बंद करने की बात कहते सुने गये थे. जिस तरह से बूचड़खानों पर कार्रवाई हो रही है, उससे लोग योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद के एक्शन का हिस्सा मान रहे हैं.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close