दिलचस्प

जब अमिताभ को साड़ी, झुकमा, नथ पहने नाचता देख भड़क गईं थीं जया, सबके सामने कर दिया थे ये काम

दिलचस्प बात ये रही कि अमिताभ की आवाज और स्टाइल वाला गाना राखी पर फिल्माए गाने से ज्यादा हिट हुआ था

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने पर्दे पर हर तरह के रोल निभाए हैं जिसके चलते उन्हें सुपरस्टार का तमगा मिला। बिग बी ने एक से बढ़कर एक फिल्में की और आज भी वो बड़े पर्दे के साथ साथ छोटे पर्दे पर भी अपनी धाक जमाए हुए हैं। अमिताभ ने प्रकाश मेहरा के निर्देशन में बनी फिल्म लावारिस में काम किया था जिसे 39 साल पूरे हो चुके हैं। ये फिल्म 22 मई 1981 में रिलीज हुई थी।  इस फिल्म में अमिताभ के साथ जीनत अमान, अमजद खान, रंजीत और राखी भी मुख्य भूमिका में थे। फिल्म पर्दे पर बड़ी ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी और गाने सुपरहिट हुए थे। हालांकि फिल्म में एक गाना ऐसा था जिसमें अमिताभ को देखकर जया बच्चन भड़क गईं थीं।

पर्दे पर हिट हुआ था मेरे अंगने में….

जब फिल्म लावारिस पर्दे पर आई तो अपनी कहानी के साथ साथ अपने गाने को लेकर भी गजब हिट हुई। इस फिल्म का एक गाना मेरे अंगने में….काफी पॉपुलर हुआ था। सबसे खास बात ये थी कि फिल्म मे ये गाना दो बार आया था। पहली बार ये गाना राखी गुलजार के ऊपर फिल्माया गया था और बाद में अमिताभ बच्चन के ऊपर। इसमें भी दिलचस्प बात ये रही कि अमिताभ की आवाज और स्टाइल वाला गाना राखी पर फिल्माए गाने से ज्यादा हिट हुआ था।

डॉयरेक्टर और प्रोड्य़ूसर उस वक्त अमिताभ पर जमकर पैसे लगा रहे थे और अमिताभ तब तक बड़े स्टार बन चुके थे। इस गाने में अमिताभ ने अपनी तरफ से और खास बना दिया था। इस गाने में अमिताभ ने औरत का रोल भी निभाया। इसके लिए उन्होंने मांग टीका, झुमका, नथ और साड़ी पहना था। इस गाने को देखकर फैंस तो बहुत खुश हुए थे, लेकिन बिग बी पत्नी और बॉलीवुड एक्ट्रेस जया आग बबूला हो गईं थीं।

गुस्से में थिएटर से बाहर चली गईं थीं जया

इस बात का जिक्र सौम्य बंदोपाध्याय ने अपनी किताब अमिताभ बच्चन में किया था। इसमें बताया गया कि जब इस फिल्म का प्रिव्यू जया बच्चन को दिखाया गया तो वो गुस्से में थिएटर से बाहर निकल गईं थीं। उनका कहना था कि इस गाने के बोल और सीन बहुत ही अश्लील हैं। उस वक्त उन्हें अमिताभ का औरत बनने और ऐसे शब्द गाना बहुत ही खराब लगा था।

गौरतलब है कि जिस गाने से चिढ़कर जया थिएटर से बाहर निकल गईं थीं उस गाने ने इस फिल्म में चार चांद लगा दिए थे। सिर्फ देश में नहीं बल्कि विदेश में भी ये गाना काफी हिट हुआ था। हालांकि अमिताभ को तारीफ के साथ साथ बहुत आलोचनाएं भी झेलनी पड़ी थी। उस वक्त मेन लीड औरतों का गेटअप नहीं लिया करते थे। उस समय के हीरो सिर्फ हीरो ही रहते थे और हंसाने के लिए साइड एक्टर औरतों के गेट अप में दिख जाता था।

वर्सटैलिटी से महानायक बने अमिताभ बच्चन

इस फिल्म के लिए अमिताभ ने ये रिस्क भी लिया था। इसका खामियाजा उन्हें 1984 के लोकसभा चुनाव में भुगतना पड़ा था। इंदिरा गांधी की हत्या के बाद अमिताभ अपने दोस्त राजीव गांधी के कहने पर राजनीति में आए थे।उस वक्त उनके विरोधी इलाहाबाद की गलियों मे उनके इसी गाने के पोस्टर को लगाकर उनका मजाक उड़ाया करते थे।

हालांकि वो मजाक बीते वक्त के साथ धुंधला हो गया, लेकिन अमिताभ की सफलता आज भी लोगो के दिलों दिमाग पर बसी हुई हैं। सिर्फ इस गाने में ही नहीं अमिताभ ने अपने करियर में भी बहुत से वैरायटी वाले रोल किए और सफलता भी पाई। वो सख्त पिता, मस्ती खोर पिता, भूत, डाकू सब बने और फैंस का दिल जीता। अमिताभ जल्द ही फिल्म गुलाबो सिताबो में नजर आएंगे। इस फिल्म में वो बूढ़े मकान मालिक के किरदार में हैं औऱ ये फिल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म पर 12 जून को रिलीज होगी।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close