ब्रेकिंग न्यूज़

झारखंड: मजिस्द में जुटे 100 नमाजियों ने पुलिस पर किया पथराव, महिलाओं ने भी की बदसलूकी

झारखंड स्थित बोकारो में पिंड्राजोरा थाना के नारायणपुर गांव के मस्जिद में शुक्रवार को जुम्मे की नमाज अदा करने को लेकर पुलिस और नमाजियों के बीच जमकर हंगामा हुआ। दरअसल, मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए 100 से अधिक लोग इकट्ठा हो गए थे, इसकी सूचना पुलिस को मिलते ही पुलिस मस्जिद पहुँची। पुलिस के पहुँचने के साथ ही नमाजियों ने पुलिस पर हमला करते हुए जमकर पत्थरबाजी की।

नमाजियों ने की पुलिस वैन पर पत्थरबाजी

दरअसल पुलिस ने नमाजियों से  लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का हवाला देते हुए कहा कि, आप इस तरह से भीड़ इकट्ठा करके सामाजिक रूप से नमाज अदा न करें। पुलिस की ये बात सुनकर, वहां मौजूद सभी नमाजी भड़क गए और पुलिस के पीसीआर वैन पर पत्थरबाजी कर दी। नमाजियों के इस हमले के बाद पुलिस को अतिरिक्त बल बुलाना पड़ा। नमाजियों के हमले में पीसीआर वैन के चालक समेत अन्य तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घायल हुए चालक और पुलिसकर्मियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। खबरों के अनुसार सभी की हालत स्थिर है।

बताया गया कि जैसे ही नमाजियों ने पुलिस बल को देखा उन पर पत्थरों से हमला कर दिया। न सिर्फ पत्थरों से पीसीआर पर हमला किया गया बल्कि वैन चालक मुकेश को गाड़ी से खींचकर उन्हें पीट पीटकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। नामजियों की ऐसी कायराना हरकत और उपद्रव देखकर पुलिस को अतिरिक्त पुलिस बल बुलानी पड़ी। खबरों के अनुसार , वहां मौजूद महिलाओं ने भी पुलिस से बुरा बर्ताव किया और पुलिस वालों से गाली गलौच भी की।

हमलावर और पत्थरबाज जल्द भेजे जाएंगे जेल- एसपी

इन हालातों पर बड़ी मुश्किल से काबू पाया गाया और इसके बाद नारायणपुर गांव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर नमाजियों के उपद्रव को रोका गया। पुलिस ने इस मसले पर ग्रामीणों से बैठकर बातचीत की और सभी लोगों से शान्ति बनाए रखने की अपील की। इसके बाद पुलिसों ने उन आरोपितों की खोज शुरू कर दी है, जिन्होंने पिंड्राडोरा पुलिस के वाहनों पर हमला किया था। इस पूरे मामले पर बोकारो के एसपी ने अपने बयान में कहा है कि अभी मामला पूरी तरह शांत है और नारायणपुर गांव में सब ठीक चल रहा है। साथ ही बोकारो एसपी ने ये भी कहा है कि गांव में माहौल खराब करने वालों और पुलिस वैन पर पत्थरबाजी करने वाले लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और उन्हें जल्द ही जेल भेजा जाएगा।

मालूम हो कि झारखंड में स्टील सिटी के नाम से प्रसिद्ध बोकारो में पिछले दिनों ही एक साथ पांच नए कोरोना के मामले सामने आए थे। इन मामलों के सामने आने के बाद भी कई लोगों इस तरह से भीड़ लगाकर लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के सभी नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। साथ ही सरकार की तरफ से किए जा रहे प्रयासों और प्रशासनिक मेहनत को भी विफल करने की लगातार कोशिशें हो रही हैं।


गौरतलब हो कि झारखंड का बोकारो शहर कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के शुरूआती दिनों से ही काफी संवेदनशील क्षेत्र रहा है। जानकारी के लिए बता दें कि अप्रैल के महीने में बोकारो जिले के चंद्रपुरा प्रखंड स्थित पिपराडीह गांव की मस्जिद में रह रहे 14 लोगों को पुलिस और प्रशासन की तरफ से क्वारंटीन किया गया था।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close