ब्रेकिंग न्यूज़

सवाल पूछने पर अदिति सिंह को कांग्रेस ने पार्टी से किया बाहर, राहुल गांधी के संग शादी का उड़ चूकी है अफवाह

अदिति सिंह ने प्रियंका गांधी के बसों का फ़र्ज़ीवाडा को लेकर सवाल पूछा था, जो कांग्रेस को चुभ गया

कांग्रेस पार्टी ने उत्तर प्रदेश के रायबरेली से सदर विधायक अदिति सिंह को अपनी पार्टी से निलंबित कर दिया है। अदिति सिंह की और से कांग्रेस पार्टी के खिलाफ किए गए ट्वीट के बाद ये फैसला लिया गया है। कांग्रेस पार्टी की विधायक होने के साथ-साथ अदिति सिंह कांग्रेस में महिला विंग की महासचिव भी थी।

कांग्रेस पार्टी से पूछे थे सवाल

विधायक अदिति सिंह ने एक दिन पहले ही दो ट्वीट किए थे और ये ट्वीट प्रियंका गांधी और यूपी सरकार के बीच चल रही बस पॉलिटिक्स से जुड़े हुए थे। पहला ट्वीट करते हुए अदिति सिंह ने लिखा था कि आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत,एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 आटो रिक्शा व एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के, ये कैसा क्रूर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान,पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाई।

वहीं दूसरा ट्वीट करते हुए इन्होंने  कांग्रेस से सवाल पूछा था कि कोटा में जब यूपी के हजारों बच्चे फंसे थे। तब कहां थीं ये तथाकथित बसें। तब कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए, बॉर्डर तक ना छोड़ पाई, तब योगी आदित्यनाथ जी ने रातों रात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया, खुद राजस्थान के सीएम ने भी इसकी तारीफ की थी।


अदिति सिंह की और से किए गए इन ट्वीट पर तुरंत कार्यवाही करते हुए उन्हें कांग्रेस पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। वहीं पार्टी से निकाले जाने पर अदिति सिंह ने कहा है कि वो पार्टी के फैसले का स्वागत करती हैं।

पार्टी विरोधी गतिविधियों का लगाया आरोप

अदिति सिंह पर कांग्रेस ने पार्टी विरोधी गतिविधियां करने का आरोप लगाया है और अदिति सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। जिसमें इनसे जवाब मांगा गया है। अदिति को फिलहाल पार्टी और पार्टी के महिला विंग के पदाधिकारी से निलंबित भी कर दिया है।

गौरतलब है कि प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार पर हमला करते हुए कहा था कि उन्होंने यूपी सरकार के सामने 1000 बसों की पेशकश की थी। ताकि इन बसों से मजदूरों को वापस घर लाया जा सके। वहीं जब यूपी सरकार ने प्रियंका गांधी की इस पेशकश को स्वीकार किया और उनसे बसों की सूची मांगी, तो उस सूची में काफी गलत जानकारी कांग्रेस की और से दी गई थी। बसों के इसी मुद्दे पर अदिति ने ये दो ट्वीट किए थे जो कि कांग्रेस के विरुद्ध थे।

राहुल गांधी से विवाह की भी खूब खबरें आई थी

अदिति सिंह स्वर्गीय विधायक अखिलेश सिंह की बेटी है। अदिति सिंह साल 2017 में पहली बार विधायक बनीं थी। 32 साल की अदिति सिंह का विवाह पंजाब से कांग्रेस के विधायक अंगद सैनी हुआ है। अंगद सैनी से विवाह होने से पहले अदिति सिंह और राहुल गांधी के विवाह की भी खूब खबरें आई थी। लेकिन ये खबरें गलत साबित हुई।

अदिति सिंह को दी गई है तगड़ी सुरक्षा

अदिति सिंह को यूपी सरकार की और से वाइ श्रेणी की सुरक्षा मिली है। इन्हें एक युवा नेता के तौर पर देखा जाता है और ये गांधी परिवार के बेहद ही करीबी मानी जाती हैं। लेकिन अब इन्हें पार्टी से निकाल दिया गया है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close