ब्रेकिंग न्यूज़

रेल मंत्रालय का बड़ा ऐलान- 1 जून से पटरी पर दौड़ेंगी 200 नॉन AC ट्रेन, जल्दी कर सकेंगे बुकिंग

कोरोना लॉकडाउन के कारण ठप्प पड़े ट्रेनों को अब धीरे धीरे पटरी पर लाने की कवायद शुरू हो चुकी है। पहले श्रमिक स्पेशल ट्रेनें और फिर 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलाने के बाद अब रेल मंत्रालय का कहना है कि1 जून से 200 नॉन एसी ट्रेनों का संचालन शुरू होगा। सभी ट्रेनें टाइम टेबल के अनुसार रोजाना चलेंगी। रेल मंत्रालय ने जानकारी दी है कि इन ट्रेनों की ऑनलाइन बुकिंग की जा सकेगी।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा कि भारतीय रेल ने 1 जून से समय सारिणी के तहत रोजाना 200 नॉन एसी ट्रेनें चलाने का फैसला किया है। इन ट्रेनों में सीट के लिए ऑनलाइन बुकिंग की प्रक्रिया भी जल्द ही शुरू होगी। ऑनलाइन बुकिंग पहले की तरह ही आईआरसीटीसी वेबसाइट के जरिए होगी। माना जा रहा है कि रेलवे के इस कदम से उन प्रवासी मजदूरों और छात्रों को राहत मिलेगी जो इस कोरोना काल में दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं।

रेल मंत्रालय ने किया ट्वीट

रेल मंत्रालय ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्विट कर कहा कि ‘सभी राज्य सरकारों से ये अनुरोध किया गया है कि जो श्रमिक रास्ते में हैं, उन्हें मेन लाइन रेलवे स्टेशन के नजदीक पंजीकृत करें और उसकी लिस्ट रेलवे को सौंपे, जिससे  सभी मजदूरों को श्रमिक स्पेशल ट्रेनों द्वारा गंतव्य स्थानों तक पहुँचाया जा सके।’


अपने दूसरे ट्वीट में रेलवे ने कहा कि, ‘श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अलावा भारतीय रेल 1 जून से 200 अतिरिक्त नॉन एसी ट्रेनें चलाएगा और इन ट्रेनों की बुकिंग भी ऑनलाइन ही होगी। रेलवे ने कहा कि इन ट्रेनों की सूचना जल्द ही उपलब्ध कराई जाएगी।’

श्रमिक धैर्य रखें उन्हें गंतव्य तक पहुँचाया जाएगा- रेलवे


रेलवे द्वारा लगातार किए ट्वीट में कहा गया कि ‘सभी श्रमिक धैर्य बनाए रखें और जहां हैं वहीं रहें। भारतीय रेल द्वारा श्रमिकों को उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाने की पूरी कोशिश की जा रही है। रेलवे ने कहा कि श्रमिकों को उनके घरों तक पहुँचाने के लिए भारतीय रेल राज्य सरकारों से उचित समन्वय स्थापित कर रही है।’

12 मई से पटरियों पर दौड़ रही हैं स्पेशल ट्रेनें

मालूम हो कि कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के कारण रेल सेवा पर भी संपूर्ण तालाबंदी थी। रेल सेवा ठप्प होने की वजह से मजदूरों के पलायन की भयावह तस्वीरें सामने आईं। इसे देखते हुए सरकार ने प्रवासी मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाईं। इन ट्रेनों से लगातार प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्य और गंतव्य स्थानों तक पहुँचाया जा रहा है। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के बाद 12 मई से 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें भी पटरी पर उतार दी गईं। गौरतलब हो कि 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें पूरी तरह से एसी हैं और इनकी ऑनलाइन बुकिंग की जा रही है। सभी 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली और देश के विभिन्न राज्यों के अलग अलग हिस्सों में चल रही हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close