योगी के आते ही ओवैसी का सुर बदला, कहा- BJP का आना 70 साल तक मुस्लिमों को ठगने वालों के लिए सबक!

मुस्लिमों के कथित मसीहा और विवादित बयानों के बाजीगर ओवैसी ने उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनते ही अपना सुर बदल लिया है. ऐसा लगता है कि ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लीमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने योगी के लिए अपने भीतर एक सॉफ्ट कोना बना लिया है. उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की जीत उन लोगों के लिए सबक है, जिन्होंने मुस्लिमों को 70 सालों तक ठगने का काम किया है.

योगी के आते ही ओवैसी ने बदले सुर:

ओवैसी ने यूपी के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर टिप्पणी करते हुए कहा कि यूपी में जो भी मुख्यमंत्री बने, उसे संविधान का पालन करना होगा. गौरतलब है कि ये बातें ओवैसी ने बिहार में किशनगंज का दौरा करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कही.

उन्होंने उन लोगों से सवाल किया, जो लोग उन पर और उनकी पार्टी पर चुनावों में भाजपा की मदद करने का आरोप लगाते हैं. उन्होंने कहा- मैं उन लोगों से सवाल करना चाहता हूं, जो धर्मनिरपेक्षता पर उपदेश देते हैं कि उत्तराखंड और ओड़िशा (स्थानीय निकाय चुनाव) में धर्मनिरपेक्ष ताकतें क्यों हार गयीं, जहां मेरी पार्टी ने उम्मीदवार खड़े नहीं किये. सच्चर कमेटी की रिपोर्ट इन पार्टियों के लिए मुस्लिमों की स्थिति उजागर करती है.

पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे ओवैसी:

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि एक दिन लोग उनकी पार्टी को वोट जरूर देंगे. आपको बता दें कि बिहार के सीमांचल को ओवैसी अपना दूसरा घर बताते रहे हैं और वहां अपनी राजनीतिक जमीन तलाशने की कोशिश कर रहे हैं. इसके अलावा योगी आदित्यनाथ और ओवैसी के बीच पहले भी बयानबाजी की खूब सारी खबरें भी आ चुकी हैं. सोशल मीडिया पर ओवैसी का वो वीडियो खूब वायरल हुआ था, जिसमें उन्होंने 15 मिनट में हिंदुओं के सफाए की बात कही थी जिसके जवाब में योगी ने हुंकार भरी थी.

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!