दिलचस्प

बड़ी बहन की शिकायत लेकर थाने पहुंचा 8 साल का छोटा भाई, पुलिस से कहा- दीदी मेरे साथ…..

लॉकडाउन के चलते सभी स्कूल-कॉलेज बंद हैं और बच्चों को घर पर ऑनलाइन क्लासेज के जरिए पढ़ाई करवाई जा रही है

एक बच्चे के लिए खेलना-कूदना ही उसकी सबसे बड़े खुशी है। अगर किसी बच्चे को ये खुशी ना मिलें तो वो उदास हो जाएगा। देश में फैले कोरोना ने ना सिर्फ लोगों को बीमारी दी है बल्कि सोशल डिस्टेंसिंग के जरिए उन्हें एक दूसरे से दूर रहने का आदी भी बनाता जा रहा है। ऐसे ही एक बच्चे को भी इस लॉकडाउन में ऐसी समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है। लॉकडाउन के चलते स्कूल बंद हैं और उसके दोस्त दूर हैं। ऐसे मे वो अपनी बड़ी बहन और दूसरी लड़कियों के साथ खेल खेलकर अपना समय बिताना चाहता है, लेकिन जब इन बच्चियों ने उसे अपने साथ खेल खिलाने से मना कर दिया तो वो ये शिकायत लेकर थाने पहुंच गया जहां सभी हैरान रह गए।

बहन की शिकायत लेकर थाने गया बच्चा

ये कहानी केरल के कोझिकोड की है जहां एक 8 साल के मासूम बच्चे को उसकी बड़ी बहन और चार छोटी बच्चियों ने उसे अपने साथ खेलने से मना कर दिया। लड़के ने उन्हें कई बार समझाया कि वो उसे भी अपने खेल में शामिल कर लें, लेकिन लड़कियों ने इस बात से इनकार कर दिया। ऐसे में झल्लाया हुआ उमर थाने पहुंच गया जहां पुलिस अफसर उसे देखकर हैरान रह गई। हालांकि उन्होंने बच्चे की बात सुनी और फिर उसे समझा-बुझाकर घर ले गए।

बता दें कि 8 साल के उमर ने बकायदा एक कागज पर अंग्रेजी में अपनी बहन और छोटी बच्चियों के खिलाफ शिकायत लिखी थी। इस शिकायत में उसने लिखा था कि उसकी बड़ी बहन और दूसरी लड़कियां अपने साथ नहीं खिलातीं। इस कंप्लेन के साथ बच्चा पुलिस थाने पहुंचा था। बच्चे के शिकायत देखकर सिविल पुलिस अधिकारी यूपी उमेश और कैटी निराज बच्चे को लेकर उसके घर पहुंचे। इसके बाद उन्होंने उमर के साथ साथ छोटी बच्चियों को भी समझाया और वो सब एक साथ खेलने को तैयार हो गईं।

कोरोना के चलते नहीं खेल पा रहे बच्चे

उमर ने बताया कि उसे लूडो-बैडमिंटन और चोर-सिपाही खेलने में बहुत मजा आता है और वो ये ही खेल खेलना चाहता है। हालांकि अभी कोई भी उसके साथ ये खेल नहीं खेलना चाह रहा था ऐसे में उसे बहुत बुरा लग रहा था। उसने इस बात की शिकायत अपने पिता से की थी। उस वक्त बच्चे की बात सुनकर पिता ने मजाक में कह दिया था कि अगर कोई खेल में शामिल नहीं कर रहा है तो पुलिस में शिकायत कर दो। बच्चा मजाक नहीं समझ पाया और सचमुच थाने आ पहुंचा। अब पुलिस ने उसे समझा दिया है और बच्चे फिर से एक दूसरे के साथ खेलने लगे हैं।

बता दें कि देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है जिसके कारण 31 मई तक लॉकडाउन का आदेश है। इसमें स्कूल-कॉलेजों को पूरी तरह से बंद रखने का आदेश दिया गया है। ऐसे में बच्चों को ऑनलाइन क्लास से पढ़ाई करवाई जा रही है। बता दें कि हर क्लास के बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं, लेकिन पढ़ाई के साथ साथ बच्चे अपने दोस्तों और स्कूल मे खेलने वाले खेल को भी काफी मिस कर रहे हैं जो इस लॉकडाउन के चलते बंद हो गया है। बता दें कि 15 मार्च के आस-पास ही स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए थे ताकी कोरोना को फैलने से रोका जा सके। अब ये शिक्षण संस्थान अगले आदेश आने तक बंद ही रहेंगे।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close