सोशल मीडिया के जमाने में गड़े मुर्दे उखाड़ना कोई बड़ी बात नहीं. जब से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप योगी आदित्यनाथ को चुना गया है, तब से ही विरोधी उनके खिलाफ सोशल मीडिया पर एक प्रोपगेंडा रच रहे हैं. उनके खिलाफ सोशल मीडिया पर एक अभियान चलाया जा रहा है. उत्तर प्रदेश की आम जनता में उनके नाम का आतंक और भय पैदा करने की कोशिश की जा रही है. ऐसा नहीं है  कि ये लोग योगी आदित्यनाथ से राजनीतिक लड़ाई लड़ रहे हैं, बल्कि विरोधी उनकी कट्टर हिंदुत्ववादी छवि और राष्ट्रवादी विचारधारा से डरते हैं.

योगी जी से थर-थर कांपता है विपक्ष:

दरअसल विपक्ष इसलिए योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनते हुए नहीं देखना चाह रहा था क्योंकि योगी की नज़र में स्वार्थ से बड़ा देश है. जो लोग या फिर राजनीतिक पार्टियां हिंदू-मुस्लिम कार्ड खेलती है या फिर सेक्यूलर होने का रोना रोती है, उनके लिए योगी के सत्ता में आ जाने से आगे का रास्ता बंद हो जाएगा. वो फिर आम जनता को उल्लू नहीं बना पाएंगे.

योगी जी हिंदुत्व और राष्ट्रवाद के मसीहा:

योगी आदित्यनाथ पूर्वांचल के एक बड़े नेता हैं. उन्हें अपनी बेबाकी के कारण जाना जाता है. वो राजनीतिक दवाब में आकर बयानबाजी नहीं करते. जो दिल में होता है, वो जनता के सामने स्पष्ट रूप से रख देते हैं. शायद इसीलिए कुछ लोग उन्हें विवादित नेता भी कहते हैं. इसी का कभी-कभी फायदा विपक्ष उठा लेता है. विरोधी भी जानते हैं कि अगर वे देश या सूबे में राष्ट्रविरोधी गतिविधि करते हैं, तो योगी जी उन्हें छोड़ेंगे नहीं.

देश विरोधी ताकतों का करेंगे सफाया:

योगी जी हिंदुत्व और देश के लिए कितने जरूरी हैं, उनके इस वीडियो से समझा जा सकता है. वो जब भी बोलते हैं तो विरोधियों के होश उड़ने लगते हैं. विरोधी इसलिए भी नहीं चाह रहे थे कि वो मुख्यमंत्री बनें क्योंकि इससे पहले भी वो अपने भाषणों में देशप्रेम की बात कर चुके हैं. सच बात तो ये है कि वो जब भी बोलते हैं तो विरोधियों के पसीने छूटने लगते हैं.

देखिये वीडियो-

योगी आदित्यनाथ अक्रामक हैं, मगर इसका मतलब ये नहीं कि मुस्लिमों को डरने की आवश्यकता है. उनके इस वीडियो को अगर आप गौर से सुनेंगे तो आपको पता चलेगा कि उनके मन में देश के लिए कितना प्यार है. जो देश का नहीं, उनके लिए सच में योगी जी खतरनाक साबित होने वाले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.