नई दिल्ली – काफी माथा-पच्ची के बाद बीजेपी ने बेहतर फैसला लेते हुए 44 वर्षीय योगी आदित्यनाथ को देश के सबसे महत्वपूर्ण राज्य उत्तर प्रदेश का नया मुख्यमंत्री घोषित कर दिया। उत्तर प्रदेश में प्रंचड जीत के बाद भाजपा ने आदित्यनाथ को कमान देकर हिंदुत्व को चर्मोत्कर्ष पर पहुंचाने का काम कर दिया है। योगी को यूपी के सिंहासन पर बैठाने के बाद, राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है कि योगी मोदी के मंत्र ‘सबका साथ – सबका विकास’ के रास्ते पर कितना चलते हैं, यह देखने वाली बात होगी। Yogi adityanath swear as CM.

बीजेपी को योगी की जरूरत है –

Yogi adityanath swear as CM

यूपी के नए सीएम गोरखपुर से सांसद हैं और गोरखनाथ मंदिर के महंत होने के साथ-साथ हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक भी हैं। उन्होंने लव जेहाद और राम मंदिर जैसे मुद्दों पर अपना कट्टर रुख दिखाया था। हिंदू वाहिनी के जरिए आदित्यनाथ ने हिन्दू युवाओं को एकजुट कर सामाजिक, सांस्कृतिक और राष्ट्रवादी मुद्दों पर पूर्वांचल में माहौल अपने पक्ष में बनाया। पूर्वी उत्तर प्रदेश में चुनाव जीतने के लिए बीजेपी के योगी आदित्यनाथ की बेहद अहम भूमिका है। पूर्वी उत्तर प्रदेश की मुस्लिम बाहुल्य सीटों पर हिन्दू मतदाताओं का ध्रुवीकरण करने में योगी ने अहम भूमिका निभाई, जिसके कारण बीजेपी को उन सीटों पर भी जीत मिलीं जहां वह कभी जीत नहीं सकी थी।

योगी बनेंगे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, आज लेंगे शपथ –

Yogi adityanath swear as CM

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों में 325 सीटें जीत कर सत्ता पर काबिज हो चुकी भारतीय जनता पार्टी के सामने सबसे बड़ी चुनौती प्रदेश की जनता के सामने एक ऐसा नेता रखने की थी, जो मजबूती से निर्णय ले सके और देश के सबसे बड़े राज्य की बागडोर संभाल सके। बीजेपी की यह तलाश योगी आदित्यनाथ पर आकर खत्म हुई। यूपी विधानसभा चुनावों में प्रचंड बहुमत प्राप्त कर बीजेपी के सामने सबसे बड़ी चुनौती मुख्‍यमंत्री के नाम को लेकर थी, लेकिन आज ये तय हो गया कि देश के सबसे बड़े राज्य का सीएम योगी आदित्यनाथ होंगे। सीएम पद के अन्य दावेदारों में मोदी सरकार में मंत्री मनोज सिन्‍हा, यूपी बीजेपी अध्‍यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा और सुरेश खन्‍ना का नाम भी लिया जा रहा था।

शपथ से पहले ही एक्शन में योगी –

Yogi adityanath swear as CM

योगी आदित्यनाथ आज दोपहर 2.15 बजे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। लखनऊ के स्मृति उपवन में आयोजित होने वाले इस शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी और अमित शाह भी मौजूद होंगे। 45 साल के योगी प्रचंड जीत के साथ राज्य के सबसे पॉवरफुल सीएम होंगे। जिसका संकेत उन्होंने अपने शपथ ग्रहण से पहले ही दे दिया है। जब शनिवार रात यूपी के मुख्य सचिव और डीजीपी को न सिर्फ तलब किया और कहा कि वे जीत के जश्न में उपद्रव बर्दाशत नहीं करेंगे। बताया जा रहा है कि योगी के शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी शासित सभी राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे।

***

Leave a Reply

Your email address will not be published.