बॉलीवुड

अभी अभी : बॉलीवुड के इस मशहूर कलाकार का हुआ निधन, कुछ दिन पहले माँ का भी हो गया था निधन

इरफान खान को मंगलवार को पेट के संक्रमण के बाद शहर के बाद कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर इरफान खान हमारे बीच अब नहीं रहे। न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से जंग लड़ रहे इरफान खान की हाल ही में तबीयत बिगड़ी थी और इसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इरफान खान को मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल के आईसीयू में एडमिट किया गया था। बता दें कि इरफान खान को कोलन इन्फेक्शन की समस्या हो गई थी और वो जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहे थे। उनकी निधन की खबर ने पूरे बॉलीवुड को शॉक्ड कर दिया है और फैंस को भी यकीन नहीं आ रहा है कि इरफान सच में अब इस दुनिया में नहीं रहे।

मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में निधन

इरफान खान की मौत की खबर पर फिल्म निर्माता शूजीत सरकार ने ट्विटर पर अपना शोक व्यक्ति किया है। उन्होंने इरफान के लिए लिखा मेरे प्रिय मित्र, इरफान आप लड़े, लड़े और लड़े। मुझ आप पर हमेशा गर्व रहेगा….हम फिर से मिलेंगे। शांति और ओम शांति। इरफान खान को सलाम। बता दें कि कुछ दिन पहले ही इरफान की मां का निधन हुआ था। अभिनेता की मां सईदा बेगम ने शनिवार को जयपुर में अंतिम सांस ली। लॉकडाउन के चलते इरफान मां के अंतिम संस्कार पर जा भी नहीं पाए थे।

बता दें कि इरफान खान को मंगलवार को पेट के संक्रमण के बाद शहर के बाद कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके प्रवक्ता ने मंगलवार को जानकारी देते हुए बताया था कि 53 साल के अभिनेता कोकिलाबेन धीरुभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती किया गया था। इससे पहले 2018 में उन्हें कैंसर की बीमारी हुई थी जिसका इलाज हुआ था।

बेहद जिंदादिल इंसान थे इरफान

बता दें कि इरफान खान आखिरी बार अंग्रेजी मीडियम में नजर आए थे। दर्शकों को ये फिल्म काफी पसंद आई थी। इस फिल्म के ट्रेलर से पहले इरफान खाने ने एक मैसेज दिया था कि जब जिंदगी नींबू पकड़ाए तो शर्बत बना लेना चाहिए, लेकिन जब जिंदगी असल में नींबू पकड़ाती है तो शर्बत बनाना इतना आसान भी नहीं होता।

गौरतलब है कि इरफान खान एक बेहद जिंदादिल इंसान थे और हर मुसीबत का सामना करना जानते थे। इसी साल के मार्च के महीने में उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था कि कैसे उन्होंने कैंसर की ये लड़ाई लड़ी। इरफान खान ने कहा था कि ये हमारे लिए रोलर-कोस्टर राइड जैसा रहा। हम थोड़ा रोए और ज्यादा हंसे। उन्होंने कहा कि इस दौरान मैं बहुत ही भंयकर बैचेनी से गुजरा, लेकिन मैंने उसे काफी कंट्रोल किया। उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा था मानो आप लगातार अपने साथ हॉपस्कॉट खेल रहे हों।

एक्टर इरफान खाने ने कहा था कि इस वक्त को मैंने अपनों के लिए जिया। इसमें सबसे अच्छी बात ये थी कि मैंने अपने बेटों के साथ काफी वक्त बिताया। उन्हें बड़ा होते देखा। टीनएज के लिए ये बहुत अहम वक्त होता है। उन्होंने इस वक्त में मेरी खूब देखभाल की और उनके कारण मुझे बहुत मदद मिली। इरफान ने कहा था कि मैं अभी तक हूं, इसकी वो एक बडी वजह है और अगर मुझे जीने का मौका मिलेगा और मैं उसके लिए जीना चाहूंगा…..आज इरफान भले ही हमारे बीच नहीं रहे, लेकिन उन्होंने सिखा दिया की जिंदगी जीना किसे कहते हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close