ब्रेकिंग न्यूज़

20 साल के एक युवक ने बनाई फेस शील्ड, जो करेगी डॉक्टरों का कोरोना संक्रमण से बचाव

20 साल के युवक उदित काकर एक ऐसा फेस शील्ड जो करेगा कोरोना से बचाव, कहा जितना ज्यादा हो सके ये शील्ड बनाना चाहता हूं

दुनिया में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है और भारत में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 8 हजार होने वाली है। इस वायरस से संक्रमित लोगों का इलाज करने वाले डॉक्टर भी कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। जो कि एक चिंता का विषय बना हुआ है। कोरोना वायरस से बचने के लिए डॉक्टर, नर्सें और पैरा मेडिकल स्टाफ को पीपीई किट दी जाती है। इस किट को पहनने के बाद ही डॉक्टर कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज करते हैं। लेकिन ये किट पहनने के बाद भी कई डॉक्टर इस वायरस से ग्रस्त हो रहे हैं।

इलाज के दौरान डॉक्टरों के संक्रमित होने की इस समस्या का हल दिल्ली के एक 20 वर्षीय लड़के ने निकाला है और इस लड़के ने घर बैठे एक ऐसी शील्ड तैयार की है जो कि डॉक्टरों को सुरक्षा प्रदान करेगी। उदित काकर नामक इस युवक ने 3D प्रिंटर की मदद से फेस शील्ड बनाई है। इस शील्ड की मदद से डॉक्टरों को इस वायरस से सुरक्षा मिलेगी। दरअसल उदित काकर की मां डॉक्टर हैं और अपनी मां के लिए उदित ने ये शील्ड बनाई है। समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए उदित ने बताया कि मैंने उनके लिए इसे बनाया। मैं जितना ज्यादा हो सके ये शील्ड बनाना चाहता हूं। ताकि देशभर के डॉक्टरों को भी ये उपलब्ध करा सकूं।

1 घंटे की अवधि में बन जाती है शील्ड

उदित के अनुसार उन्हें एक फेस शील्ड को प्रिंट करने में लगभग 1 से 1.5 घंटे का समय लगता हैं और वो दिन में 20-25 फेस शील्ड बना सकते हैं। ये फेस शील्ड उदित ने महज 3 प्रिंटर से तैयार की है।

मिलें फेस शील्ड का ऑर्डर

उदित को सरकार द्वारा फेस शील्ड बनाने का ऑर्डर भी दिया गया है। उदित के अनुसार उन्हें दिल्ली में प्रयोगशालाओं से लगभग 6 कॉन्ट्रैक्ट मिले हैं। साथ में ही कई डॉक्टरों ने भी इसका ऑर्डर दिया है। जिसे उदित पूरा करने में लगे हुए हैं।

बढ़ते जा रहे हैं मामले

भारत में लगे हुए लॉकडाउन की अवधि खत्म होने वाली हैं। लेकिन फिर भी कोरोना वायरस से संक्रमित मामले रुकने की जगह बढ़ते ही जा रहे हैं। जिसकी वजह से लॉकडाउन की अवधि को और बढ़ाया जा सकता है। पीएम मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्री से बात की है और अधिकतर मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन को बढ़ाने की सिफारिश पीएम से की है। जिसके बाद से ऐसा माना जा रहा है कि 14 अप्रैल को खत्म हो रहा लॉकडाउन अब 30 अप्रैल तक बढ़ाया जा सकता है।

इस समय विश्व भर में कोरोना वायरस से ग्रस्त लोगों की संख्या 17 लाख पहुंच गई है। जबकि मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ती जा रही है। ऐसे में इस वायरस को फैलने से रोकने का मात्र एक ही तरीका है और वो लॉकडाउन है। लॉकडाउन के चलते लोग घरों में रहने के लिए प्रतिबंध हैं और ऐसा होने से ये संक्रमण फैलने से रोका जा सकता है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close