राजनीति

ओडिशा: लॉकडाउन को लेकर HC का बड़ा फैसला, इन लोगों को मिलेगी लॉकडाउन से छूट

कोरोना संकट के बीच ओड़िशा उच्च न्यायालय ने एक बड़ा फैसला लिया है। शुक्रवार को उच्च न्यायालय ने दोपहिया वाहनों के इस्तेमाल के छूट के अपने आदेश में आंशिक संशोधन करते हुए कहा, बुजुर्ग और दिव्यांगजन बाजारों से सब्जियां, फल, किराने का सामान, दवाएं, लाने के लिए अपने वाहनों का इस्तेमाल कर सकते हैं, इसके लिए पुलिस की ओर से छूट दी जाएगी।

इसके अलावा हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधिश कुमारी संजू पंडा और न्यायमूर्ति बिस्वनाथ रथ की एक खंडपीठ ने कहा, पुलिस लॉकडाउन के दौरान उन लोगों को छूट देगी, जो डॉक्टर और स्वास्थयकर्मी है। बता दें, खंडपीठ ने कहा पुलिस, डॉक्टरों और स्वास्थयकर्मियों के आवाजाही के दौरान पहचान पत्र और प्रमाणपत्र दिखाने को लेकर छूट देगी। इससे पहले ओड़िशा सरकार ने उच्च न्यायालय से आदेश के स्पष्टीकरण की अपील की थी। इस अपील के बाद हाईकोर्ट ने यह महत्वपूर्ण संशोधन किया है।

कोरोना संकट से पूरा देश जूझ रहा है। और इस वक्त देश में संक्रमण के रोकथाम के लिए 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है।  अब लॉकडाउन के सिर्फ 3 दिन बाकी हैं। और इस समय ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि, लॉकडाउन निश्चित रूप से आगे बढ़ेगा। इस मामले में कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी सहमत हैं। इससे पहले की केंद्र सरकार लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा करती, ओड़िसा की नवीन पटनायक सरकार ने केंद्र से पहले ही पूरे ओड़िशा में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ा दिया है। और केंद्र को ये सलाह भी दिया है कि, वो संपूर्ण भारत में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाए।

ज्ञात हो ओड़िशा सरकार ने पहले ही 30 अप्रैल तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया है। इस घोषणा के बाद ओड़िशा ऐसा करने वाला पहला राज्य भी बन गया है। इसके अलावा नवीन पटनायक सरकार ने ये भी घोषणा की है कि राज्य के सभी शैक्षणिक संस्थान स्कूल और कॉलेज 17 जून के बाद खोले जाएंगे। सीएम नवीन पटनायक ने केंद्र से अपील की है कि, 30  अप्रैल तक विमान और रेल सेवा बंद रखी जाए। ताकि कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके।

अभी तक माना जा रहा है कि ओड़िशा सरकार ने कोरोना पर बहुत ही अच्छे से नियंत्रण किया है। और वहां की सरकार ने समय रहते हुए काफी फूर्ति से काम किया। सिर्फ 2 हफ्ते के अंदर 1000 बेड का अस्पताल तैयार किया गया।  और ये अस्पताल सिर्फ और सिर्फ कोरोना वायरस मरीजों के लिए समर्पित है। ऐसा करने वाला भी ओड़िशा देश का पहला राज्य है। ये कहना गलत नहीं होगा कि, ओड़िशा सरकार की दूरदृष्टिकोण वहां कोरोना के संक्रमण को रोकने में सफल रही है। ओड़िशा की नवीन पटनायक सरकार ने पूरे ओड़िशा के डॉक्टरों को जो इस समय कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहे हैं। उन्हें अग्रिम 4 माह के वेतन देने की भी घोषणा कर दी है।

गौरतलब हो कि पूरे देश में 25 मार्च से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है। अब लॉकडाउन के तीन दिन शेष हैं। ऐसे में पूरे देश में इस वक्त लॉकडाउन को  लेकर चर्चा है कि, क्या इसकी अवधि और बढ़ाई जाएगी? बता दें पीएम नरेंद्र मोदी लगातार वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठकें कर रहे हैं। पिछले दिनों विपक्षी दलों के नेताओं के साथ बातचीत में लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की बात कही गई थी।

Back to top button